नई दिल्ली: कोरोना वायरस पूरी दुनिया में अपना कहर बरपा रहा है, इस बीच एक ऐसी खबर सामने आ रही है जिसे जानकर शायद आपके होश उड़ जाएंगे. एक तरफ जहां सभी डॉक्टर्स व वैज्ञानिक कोरोना के वैक्सीन का पता लगाने में जुटे हुए हैं. वहीं दूसरी ओर एक खतरा धरती तरफ तेजी से बढ़ता हुआ आ रहा है. कुछ खबरों की मानें तो आकाशगंगा में काफी हलचल हो रही है. इस कारण एक बहुत खगोलीय पिंड धरती के पास से गुजरने वाला है. Also Read - भारत में COVID-19 संक्रमण में तेजी, 29 जनवरी के बाद आए कोरोना के 17 हजार से ज्‍यादा नए केस

बता दें कि सोशल मीडिया पर इस तरह का दावा किया जा रहा है कि माउंट एवरेस्ट के आधे भाग जितना बड़ा एक पिंड धरती के पास से गुजरने वाला है. बताया जा रहा है कि यह घटना 29 अप्रैल के दिन घटेगी. सुबह के 4.56 मिनट के करीब यह उल्का पिंड लगभग 31000 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से पृथ्वी के समीप से गुजरेगी जो कहीं न कहीं पृथ्वी पर तबाही मचाने के लिए काफी है. Also Read - भारत में कोरोना संक्रमण ने फिर पकड़ी रफ्तार, 24 घंटे में COVID-19 के 14,989 नए केस आए

नासा की मानें तो एक क्षुद्रग्रह जिसका नाम 52768-1998 OR2 रखा गया है. बताया जा रहा है कि यह पिंड 40 लाख किलोमीटर की दूरी से पृथ्वी के पास से गुजरेगा. नासा का कहना है कि इससे डरने की किसी प्रकार की जरूरत नहीं है. बता दें कि नासा ने 4 मार्च को ही इस तरह की अफवाहों का खंडन कर दिया था. नासा ने बताया कि उल्का पिंड धरती के पास से गुजरेगा जरूर लेकिन इससे किसी को डरने की जरूरत नहीं है.