जयपुर: कोरोना महामारी के दौरान अस्पतालों में बेड्स की संख्या सीमित हैं, ऐसे में लोग कोरोना से तो बचना ही चाहते हैं साथ ही अन्य किसी तरह की भी बीमारियों से इन दिनों दूर रहना चाहते हैं ताकि उन्हें किसी कारणवश अस्पताल न जाना पड़े. लेकिन जयपुर में ब्रिटिश मूल के नागरिक इयान जोनस भारत में पहले डेंगू और मलेरिया के शिकार हुए, फिर वे कोरोना संक्रमित पाए गए और इन तीन बीमारियों से जब वे लड़कर निकले तो इस बार उन्हें जहरीले कोबरा सांप ने काट लिया. हालांकि इयान यहां भी जीतने में कामयाब रहे और जहर को उनके शरीर के अंदर निष्क्रिय कर दिया गया. Also Read - Coronavirus Vaccination: इस देश ने कोविड-19 के लिए भारत में बनी एस्ट्राजेनेका के टीके को दी मंजूरी

इयान ब्रिटेन के एक चैरिटी वर्कर हैं, कोरोना महामारी के वक्त से पहले वे राजस्थान में आए हुए थे. लेकिन एक एक कर फिर यहां उनके साथ घटनाएं होनी शुरू होती है. इस बीच देश में लॉकडाउन भी लगता है. कोबरा के काटे जाने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां इलाज कर उन्हें ठीक किया गया. Also Read - कोविड वैक्सीनेशन से पहले बोले स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन- कल एक अहम दिन...कोरोना के खिलाफ लड़ाई का यह अंतिम चरण

बता दें कि इयान के परिजनों को ब्रिटेन में जब यह सूचना मिली कि इयान को कोबरा सांप ने काट लिया है और इयान कुछ महीनों से कई एक के बाद एक समस्याओं से जूझ रहे हैं तो उनके परिवार वाले सदमें में आ गए. इसके बाद इयान के इलाज के लिए कैंपेन चलाया गया और 48 घंटों में ही 16 लाख से अधिक रुपये कैंपेन के तहत दान किया गया. दुनियाभर के लोगों ने ऐसी मुश्किल घड़ी में इयान का साथ दिया और उनके परिजनों का साथ दिया जिसके लिए उनके परिजनों ने लोगों का धन्यवाद भी किया. Also Read - कोरोना वैक्सीनेशन के लिए अब चुनाव आयोग के डेटा का होगा प्रयोग, कल से शुरू होगा देशभर में टीकाकरण