छत्तीसगढ़: चाय पर चर्चा, चाय बेचने या किसी न किसी तरीके से पिछले कुछ सालों से चाय लगातार ख़बरों में भी रहती है, लेकिन चाय से जुड़ी ये ख़बर आपके लिए बिलकुल अलग और चौंकाने वाली हो सकती है. सुबह, शाम या दिन में कई बार चाय पीना आपकी आदत में शुमार हो सकता है, लेकिन छत्तीसगढ़ के कोरिया ज़िले के एक गाँव की रहने वाली महिला पिछले 33 सालों से सिर्फ चाय के सहारे ज़िंदा है. दावा है कि महिला जब 11 साल की थी तब से उसने कुछ खाना तो दूर पानी तक नहीं पीया है. Also Read - COVID-19: oxygen की कमी के चलते एमपी- छत्‍तीसगढ़ में मरीजों की मौत, कचरागाड़ी में शव ढोए गए

Also Read - Covid in Chhattisgarh Update: जलती लाशों का धुंआ बना आफत, छत्‍तीसगढ़ में 90 हजार से ज्‍यादा एक्‍ट‍िव केस

11 की उम्र से ब्लैक टी पी रही है महिला Also Read - COVID-19: देश की सड़कें फिर नजर आईं सूनी, कोरोना संक्रमण के 72 फीसदी से ज्‍यादा केस सिर्फ इन 5 राज्यों से हैं

पीली देवी कोरिया ज़िले के बरदिया गांव की रहने वाली है. 44 साल की पीली देवी के मुताबिक़ वह जब 11 साल की थी और छठवीं कक्षा में पढ़ती थी, वह पास ही स्थित जनकपुर में एक जिलास्तरीय प्रतियोगिता में हिस्सा लेने गई थी. पीली वहाँ से लौट रही थी, इस बीच उसने पानी नहीं पीया और न ही कुछ खाया. घर आने पर भी उसने खाना नहीं खाया. परिजन बताते हैं कि पीली ने शुरू में कुछ दिन ब्रेड और दूध लिया. फिर इसके बाद उसने ये भी छोड़ दिया. पानी भी नहीं लिया. वह सिर्फ ब्लैक टी मांगने लगी. तब से लेकर आज तक वह सुबह, दोपहर, शाम तीनों वक़्त ब्लैक टी ही पीती है.

डॉक्टर नहीं बता सके दिक्कत

पीली के पिता रति राम बताते हैं कि हमें लगा कि बिटिया बीमार हो गई है. कुछ बड़ी समस्या है. हम पीली को डॉक्टर के पास ले गए. डॉक्टर ने कहा कि कोई दिक्कत नहीं है. इसके बाद अन्य जगहों पर भी दिखाया, लेकिन हर जगह डॉक्टर्स भी हैरत में रहे कि कई जांचों के बाद भी पीली में कोई समस्या पता नहीं लगा. डॉक्टर्स के अनुसार, पीली के स्वास्थ्य पर भी कोई असर नहीं पड़ा. वह बिल्कुल स्वस्थ है.

पीली देवी 33 साल से सिर्फ चाय पी रही है. फोटो एएनआई

BLACK TEA के इन फायदों से आप होंगे अनजान, कई बीमारियों से होता है बचाव…

चाय वाली चाची के नाम से है मशहूर

पीली की चाय की आदत की खबर धीरे-धीरे पूरे इलाके में फ़ैल गई. कई लोग उसे सिर्फ चाय पीते हुए ही देखने आने लगे. 44 साल की पीली पूरे इलाके में चाय वाली चाची से मशहूर है. पीली कभी घर से बाहर नहीं निकलती है.

पूरे दिन घर में करती है भगवान शिव की पूजा

भाई बिहारी लाल बताते हैं कि पीली कभी घर से बाहर नहीं निकली. वह घर में रहकर पूरे दिन भगवान् शिव की पूजा करती है. व्रत रखती है. वह बताते हैं कि हम सब के लिए पीली एक पहेली, जिसे डॉक्टर भी नहीं सुलझा सके हैं.

डॉक्टर बोले- यह हैरतअंगेज है

कोरिया जिला अस्पताल के डॉ. एसके गुप्ता कहते हैं कि ऐसा संभव नहीं है. कोई सिर्फ चाय पीकर ज़िंदा नहीं रह सकता है. अगर ऐसा है तो यह हैरतअंगेज है. यह वैज्ञानिक रूप से असंभव है. 30 साल से ज्यादा का समय बेहद लंबा होता है. यह गहन जांच का विषय है.