मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले में जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के कोरोना संक्रमित होने के बाद डर इस तरह बढ़ गया है कि अब यहां सरकारी अधिकारी व कर्मचारी लोगों के आवेदन हाथ से नहीं लेते, बल्कि इसके लिए पेटी रखी जाती है.Also Read - Odisha Lockdown-Unlock New Guidelines: आज से एक महीने के लिए ओडिशा में Lockdown हुआ अनलॉक, जानिए नई गाइडलाइन...

राज्य में मंगलवार को जनसुनवाई होती है और तमाम लोग अपनी समस्याओं को लेकर अधिकारियों के पास पहुंचते हैं. मगर यहां जिला मुख्यालय में आवेदन हाथ से नहीं लिए जा रहे हैं, जनसुनवाई के दिन भी समस्याग्रस्त लोगों को आवेदन पेटी में डालना पड़ रहा है. Also Read - केंद्र ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई के लिए राज्यों को 1828 करोड़ रुपये दिए

जिलाधिकारी कार्यालय में एक पेटी रख दी गई है और इसी पेटी में शिकायती आवेदन डाले जाते हैं. Also Read - MP के 13 जिलों में IMD ने भारी से बहुत भारी बारिश के लिए जारी किया ऑरेंज अलर्ट

बताया गया है कि आमजन पेटी में अपनी शिकायत या आवेदन डालता है और बाद में इस पेटी से इन आवेदनों को कर्मचारी द्वारा निकालकर संबंधित अधिकारी तक भेज जाता है. यहां पर सीधे तौर पर कोरोना के डर से लोगों से आवेदन नहीं लिए जा रहे हैं.

ज्ञात हो कि जिलाधिकारी अक्षय कुमार सिंह कोरोना संक्रमित हैं और उनका इलाज चल रहा है. इसके अलावा पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल सहित दो डिप्टी कलेक्टर सहित एक दर्जन कर्मचारी व अधिकारी कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं.

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ए.एल. शर्मा ने बताया है कि शिवपुरी जिले में अभी तक 2,159 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 1,793 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं.
(एजेंसी से इनपुट)