Fact Check: देश में जारी कोरोना संकट के बीच फर्जी खबरों या Fake News का चलन भी काभी हद तक बढ़ गया है. इन दिनों सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें 500 के नोट के नकली होने का दावा किया जा रहा है. सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल हो रहा है उसमें 500 के दो नोटों में अंतर बताए जा रहे हैं, जिसमें एक नोट को सही और दूसरे को नकली बताया जा रहा है. वीडियो में यह चेतावनी दी जा रही है कि 500 रुपये का ऐसा कोई भी नोट नहीं लेना चाहिए, जिसमें हरी पट्टी RBI गवर्नर के सिग्नेचर के पास न होकर गांधीजी की तस्वीर के पास हो. लोगों को गुमराह करने के लिए वीडियो में दोनों नोटों को दिखाया गया है. हालांकि यगह वीडियो फर्जी है. RBI के मुताबिक 500 के दोनों नोट वैध हैं..Also Read - Viral Video: लड़की के सामने बड़ी-बड़ी डींगे हांक रहे थे लड़के, तभी गिर गया चिल्लर और मच गया तमाशा- देखें वीडियो

पीआईबी फैक्ट चेक की तरफ से ट्वीट कर बताया गया कि वीडियो में दिखाए जा रहे दोनों नोट असली हैं. RBI के अनुसार दोनों नोट वैध हैं. पीआईबी की तरफ से यह भी कहा गया है कि कृपया ऐसे भ्रामक संदेशों को साझा न करें. कोरोना से बचाव के लिए कोविड उपयुक्त व्यवहार अवश्य अपनाएं. Also Read - Funny Video Today: बाल कटाने गए लड़के के सिर पर नाई ने लगा दी आग, फिर जो हो गया पेट पकड़कर हंसेंगे- देखें वीडियो

Also Read - Sanp Aur Murgi Ki Ladai: खतरनाक सांप के सामने तन कर खड़ी हो गई मुर्गी, फिर हुई ऐसी लड़ाई देख हिल जाएंगे- देखें वीडियो

बता दें कि सरकार की तरफ से बार-बार अपील की जाती है कि जब तक आधिकारिक घोषणा न हो तब तक भ्रामक खबरों (Fake News) पर यकीन नहीं करें. इसके लिए PIB की तरफ से Fact Check की भी शुरुआत की गई है. इसका उद्देश्य लोगों तक सही जानकारी पहुंचाना और भ्रामक खबरों के खिलाफ सचेत करना है.

प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो (PIB) ने इंटरनेट पर प्रचलित गलत सूचनाओं और फर्जी खबरों को रोकने के लिए दिसंबर 2019 में इस तथ्य-जांच विंग को लॉन्च किया. पीआईबी का उद्देश्य ‘सरकार की नीतियों और विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों पर प्रसारित होने वाली योजनाओं से संबंधित गलत सूचना की पहचान करना है.’