Mandap Me Natak: देश भर से ऐसी कई खबरें आ रही हैं, जिसमें दुल्हनें ऐसे फैसले कर रही हैं जिसके बारे में शाद ही आपने-हमने सोचा हो. ताजा मामला एक बार फिर उत्तर प्रदेश से सामने आया है.Also Read - UP: इंजीनियरिंग कॉलेज की दीवार गिराने के मामले में सपा MLA समेत 50 लोगों पर केस दर्ज

कुछ दिन पहले ही एक दुल्हन ने चश्मे वाले दूल्हे से शादी करने से इंकार कर दिया था, तो दूसरी ने नशे की हालत में आए दूल्हे से शादी करने से मना किया था. इसी तरह की एक घटना महोबा से सामने आई है, जहां दुल्हन ने पवित्र अग्नि के छह फेरे लेने के बाद अपनी शादी तोड़ दी. Also Read - राष्ट्रीय ध्वज के अपमान का केस: विधायक के खिलाफ चलगा केस, एमपी-एमएलए कोर्ट का निर्देश

हिंदुओं में परंपरा के हिसाब से शादी की रस्मों को पूरा करने के लिए दूल्हा और दुल्हन एक साथ आग के चारों ओर सात फेरे लेते हैं. Also Read - ग्रेटर नोएडा में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, होटल में मिलीं लड़कियां और युवक

खबरों के मुताबिक, कुलपहाड़ तहसील के एक गांव में हुई एक घटना में पवित्र अग्नि के छह फेरे पूरे कर लेने के बाद दुल्हन ने बताया कि वह ये शादी तोड़ रही है.

दूल्हा और दुल्हन के दोस्तों और रिश्तेदारों ने दुल्हन को शादी के लिए मनाने की पूरी कोशिश की, लेकिन वह अपने फैसले से टस से मस नहीं हुई. देखते ही देखते मामला इतना गंभीर हो गया कि आधी रात को पंचायत को मामले में दखल देने के लिए बुलाया गया.

दुल्हन ने यहां भी अपना पक्ष रखा, तो दूल्हे के रिश्तेदारों के पास वापस लौटने के अलावा कोई और रास्ता नहीं बचा.

दुल्हन से जब पूछा गया कि शादी करने में उसकी दिलचस्पी क्यों नहीं है? तो उसने जवाब दिया कि उसे दूल्हा पसंद नहीं है.

इस पर दूल्हे के पिता ने कहा कि अगर दुल्हन शादी के लिए तैयार ही नहीं थी, तो वह जयमाल सहित शादी की अन्य रस्मों में शामिल ही क्यों हुई.

सूत्रों ने बताया कि शादी की बाकी सभी रस्में आराम से सम्पन्न हुई थी. शादी वाले दिन भी सुबह से कोई तनाव या बहस नहीं हुआ था. सभी खुश थे. ये सब अचानक से हो गया.
(एजेंसी से इनपुट)