Dulhe Ne Manga Anokha Dahej: दहेज में आपने नकदी, गहने, गाड़ी, फ्लैट और महंगे गिफ्ट मांगने के बार में आपने अक्सर सुना होगा, लेकिन महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक दूल्हे और उसके परिवार ने दहेज में ऐसी अजीब मांग रख दी, जिसके बारे में आप सोचकर ही हैरान हो जाएंगे. दरअसल, औरंगाबाद के उस्मानपुर पुलिस थाना में एक लड़की के पिता ने वरपक्ष पर दहेज में 21 नाखूनों वाला कछुआ और काला लैब्राडोर कुत्ता मांगने का आरोप लगाया है. इस मामले में पुलिस ने दूल्हे और उसके परिजनों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और अब किसी भी वक्त दहेज मांगने के आरोप में गिरफ्तारी हो सकती है.Also Read - Maharashtra News: एकनाथ शिंदे से जुड़े नवरात्रि कार्यक्रम में पहुंचीं रश्मि ठाकरे, उद्धव गुट के कई नेता भी रहे मौजूद

जानकारी के मुताबिक, औरंगाबाद के उस्मानपुरा में रहने वाले एक लड़के की शादी रामनगर इलाके की एक लड़की के साथ तय हुई थी. 10 फरवरी, 2021 को सगाई भी हो गई. दोनों पक्षों ने मिलकर तय किया था कि कुछ महीनों के बाद कोविड खत्म होने पर शादी होगी, लेकिन इस बीच लड़के वालों ने लड़की वालों के सामने दहेज में अजब मांग रख दी है. Also Read - महाराष्ट्र में एक नाम वाले व्यक्तियों के शवों की अदला-बदली, मूछ से हुई पहचान; जानें क्या है पूरा मामला

Also Read - Jharkhand Crime: पति ने गर्भवती पत्नी की ले ली जान, ग्रामीणों ने आंगन में शव दफनाकर कब्र बनवा दिया

लड़की के पिता का कहना है कि फरवरी में उनकी लड़की की सगाई औरंगाबाद के रामनगर इलाके में स्थित एक मैरिज हॉल में हुई थी. सगाई में दुल्हन के माता-पिता ने लड़के को 10 ग्राम की सोने की अंगूठी और दो लाख रुपये नकद दिया था. लड़की के पिता ने बताया कि वह दहेज के खिलाफ हैं, लेकिन उन्होंने तय किया कि अपनी बच्ची की खुशी के लिए वह थोड़ा बहुत दहेज देंगे.

सगाई के बाद दूल्हे के परिवार ने लड़की के पिता से दहेज में 21 नाखूनों वाला कछुआ, एक लैब्राडोर काला कुत्ता और लड़की की सरकारी नौकरी लगाने के लिए 10 लाख की मांग कर दी है.

अब लड़की के पिता का कहना है कि शादी के लिए ऐसी मांग सुनकर परेशान होना स्वभाविक है. उन्होंने उस्मानपुरा पुलिस स्टेशन में बुधवार को दूल्हे और उसके परिवार वालों के खिलाफ केस दर्ज करवाया है. पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 406 और 34 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और जल्द ही उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.