Fake Naked Images of Women: दुनिया आर्टिफिशयल इंटेलिजेंस की ओर आशा की किरणें लगाई बैठी है. सबको इसी बात की आस है कि ये मानव इतिहास में तरक्की का नया आयाम साबित होगा. तकनीक जितनी विकसित होगी हम उतना ही विकास करेंगे. पर आज दुनिया को पहली बार इससे डर भी लगा होगा. वजह है महिलाओं की फेक नग्न तस्वीरें, जो उनकी मर्जी के बिना बना दी गईं और सोशल मीडिया पर अपलोड भी कर दी गईं. ये खबर आते ही जंगल में आग की तरह फैल गई.Also Read - Facebook फ्रेंड ने लड़की से पहली ही मुलाकात में किया कांड, ड्रग्स सुंघाई और चलती कार में...

क्या है डर
दरअसल पूरी दुनिया से हजारों महिलाओं की तस्वीरें सोशल मीडिया से लेकर फिर उन्हें नग्न फेक तस्वीरों में बदल दिया गया. वो भी कंप्यूटर के एक क्लिक से. फिर उन तस्वीरों को ऑनलाइन शेयर किया गया. बिना किसी महिला की जानकारी या सहमति के. Also Read - रेलवे ट्रैक के पास खड़े होकर चलती ट्रेन के करीब से अपना वीडियो शूट करवाना पड़ा भारी, चली गई जान

कैसा हुआ ये सब
बजफीड में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, हाल ही में बनाया गया आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस बोट का प्रयोग कर महिलाओं की ऐसी तस्वीरें तैयार कर ली गईं. इस प्रक्रिया से केवल महिलाओं की तस्वीरों पर ही काम किया गया. Also Read - Maharashtra Violence: महाराष्ट्र के मालेगांव-अमरावती-नांदेड़ में कैसे भड़की हिंसा? जानिए पूरी सच्चाई!

इस टूल की मदद से फेक, कंप्यूटर जनित तस्वीरें, कपड़े आदि उतारे या पहनाए जा सकते हैं और फेक इमेज यानी फेक तस्वीरें तैयार कर ली जाती हैं. इस सॉफ्टवेयर को डीपन्यूड नाम दिया गया है.

एक मिनट के भीतर ही कोई भी महिला की तस्वीर से कपड़े हटा सकता है, फेक न्यूड पिक में बदल सकता है जो काफी डराने वाला है.

भारत में भी हड़कंप
बांबे हाईकोर्ट ने इस पर संज्ञान लेते हुए केंद्र सरकार से पूछा है कि बॉट द्वारा कथित तौर पर महिलाओं की तस्वीरों को नग्न चित्रों में बदल देने की हालिया खबरों पर वह क्या कर सकती है.