नई दिल्ली: राजधानी स्थित इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में रविवार को श्री हरिकृष्ण त्रिवेदी स्मृति युवा नागरिक पत्रकार प्रोत्साहन पुरुस्कार कार्यक्रम का आयोजन हुआ. इस मौके पर वर्ष 2017-18 में पत्रकारिता के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले युवाओं को सम्मानित किया गया. प्रिंट मीडिया की श्रेणी में ये पुरस्कार प्रसन्नजीत चक्रवर्ती को अपनी जन सामान्य से जुड़ी खबरों और साहित्य को बढ़ावा देने वाली रिपोर्टों के के लिए दिया गया. वहीं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के क्षेत्र में ये पुरस्कार अमित और सुचित मंडलोई को ये पुरस्कार मिला.Also Read - नीरज चोपड़ा को 2 करोड़ और अन्‍य मेडल व‍िजेता खिलाड़ियों को एक-एक करोड़ रुपए देगा बायजूस

अमित को ये पुरस्कार दूरदर्शन में रहते हुए बनाए गए दो कार्यक्रमों ‘दास्तान-ए-दिल्ली’ एवं ‘सफ़र लोकतंत्र का’ के लिए प्रदान किया गया. प्रसन्नजीत को एक लाख रुपए का पुरस्कार मिला वहीं अमित और सुचित को इक्यावन- इक्यावन हजार की धनराशि पुरस्कार स्वरूप प्रदान की गई. कार्यक्रम की आयोजक और ट्रस्टी कांता जोशी ने सभी विजेताओं प्रशस्ति पत्र, प्रतीक चिन्ह और अंगवस्त्र प्रदान कर सम्मानित किया. Also Read - भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी की कंधार में अफगान आर्मी और तालिबान की लड़ाई की कवरेज के दौरान मौत

अमित को इससे पहले भी उनके ऑनलाइन ओपिनियन मीडिया प्लेटफॉर्म चौपाल के लिए जर्मनी के मीडिया संस्थान डायचेवेले का द बॉब्स पुरस्कार मिल चुका है. अमित ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने सहयोगियों को दिया है जिन्होंने इन कार्यक्रमों के निर्माण में उनकी मदद की है. उन्होंने यह भी कहा कि वे अपनी पुरस्कार की समस्त धनराशि को पर्यावरण के क्षेत्र में चलाई जा रही उनकी मुहिम #SelfieWithSapling के लिए खर्च करेंगे. Also Read - UP: पत्रकार की पिटाई करने वाले IAS अफसर ने माफी मांगकर की सुलह, एक-दूसरे को मिठाई खिलाते आए नजर

बता दें इस पुरस्कार के लिए चयन और निर्णायक मंडल में जाने-माने इतिहासकार पुष्पेश पंत, शरद दत्त रहे. कार्यक्रम में आलोचक एवं मीडिया विश्लेषक प्रोफेसर सुधीश पचौरी ने ‘मीडिया का धर्म’ विषय पर व्याख्यान भी दिया.