नई दिल्ली: दुनिया में आए दिन कई घटनाएं घटित होती हैं. लेकिन कई घटनाएं ऐसी होती हैं जो चर्चा का विष बन जाती है. ऐसी ही एक घटना के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं. इस मामले को सुनकर आप भी काफी हैरान हो जाएंगे. यह मामला है मध्य प्रदेश के एक शहर देवास का. यहां रहने वाले एक व्यक्ति ने एक छोटी सी वजह के चलते 17 सालों तक अपनी पत्नी के साथ कोई भी संबंध कायम नहीं किया . अब आपके मन भी यह सवाल आ रहा होगा कि आखिर वह कौन सी वजह से जिसके चलते एक पति -पत्नी के बीच, कोई संबंध स्थापित नहीं हो सका. आइए जानते हैं. Also Read - सज्जन सिंह वर्मा ने लड़कियों की उम्र को लेकर दिया था विवादित बयान, अब NCPC ने भेजा नोटिस

दरअसल मामला  देवास में रहने वाले विमलराव का है. विमलराव की उम्र 79 है और उनकी पत्नी की उम्र 72 है. रिटायरमेंट के बाद विमलराव ने मकान, पेंशन समेत सबकुछ पत्नी के नाम कर दिया.  एक दिन विमलराव ने पत्नी से सेव की सब्जी बनाने के लिए कहा, लेकिन पत्नी ने मना कर दिया. इस बात पर विमलराव को इतना गुस्सा आया कि वह बिना बताए ही घर से चले गए. Also Read - MP के पूर्व मंत्री का विवादित बयान, '15 साल में बच्चे पैदा करने लायक हो जाती हैं लड़कियां फिर क्यों...', देखें VIDEO

घर से जाने के बाद विमलराव महाराष्ट्र के बुलढाना के मातोड़ गकांव में रहने लगे और पेंशन भी पत्नी के नाम से हटाकर अपने नाम कर दी. तभी मालूम हुआ कि मातोड़ गांव से पेंशन की रकम निकाली जा रही है. पुलिस वहां पहुंची और विमलराव को कोर्ट में पेश किया. कोर्ट में विमलराव ने अपनी कहानी बताई और कहा कि पत्नी सेव की सब्जी बनाकर नहीं खिला सकती तो उसे पैसे किस लिए दूं? तभी जज ने 50 रुपए देकर सेव मंगवाई और विमलराव की पत्नी को दी साथ ही घर पर सेव की सब्जी बनाकर पति को खिलाने का आदेश भी दिया. घर जाकर पत्नी ने सेव की सब्जी बनाई जिससे पति-पत्नी के बीच की दूरा खत्म हो गई और दोनों एक हो गए. Also Read - Gold Silver Coin News: सोने-चांदी के सिक्कों की तलाश में नदी की खुदाई में लग गया पूरा गांव, जानें क्या है मामला