भिखारियों के बारें में हुआ अब तक का सबसे बड़ा खुलासा इसे पढ़ेंने के बाद आप भी चौंक जाएंगे। एक सर्वे रिपोर्ट से इस बात की जानकरी मिली है की देश के अंदर भीख मांग के जीवन बसर करने वाले बिखारियों में कई 12वी पास तो कई ग्रेजुएट और डिप्लोमा होल्डर हैं। इनके बारें में इस चौकानें ने वाली खबर को जानकर सभी हैरान है। चलिए हम आप को बतातें है की इन भिखारियों की कितनी बड़ी संख्या है और क्यों मांगते है ये लोग भीख। Also Read - भारत में COVID-19 संक्रमण में तेजी, 29 जनवरी के बाद आए कोरोना के 17 हजार से ज्‍यादा नए केस

Also Read - WATCH: पूर्व इंग्लिश कप्तान माइकल वॉन ने मोटेरा की पिच को लेकर कसा तंज; पोस्ट की 'पिच रिपोर्ट'

अक्सर राह चलते, दूकान के बाहर या कहें घर के दरवाजें पर हर दिन कोई न कोई भिखारी मिली जाता है। जिनमें कुछ लाचार होते है तो कुछ कदकाठी से मजबूत लेकिन फिर भी भीख मांगते हैं। लेकिन आप आप को कोई भिखारी मिलें तो उससे एक एक बार उसके पढाई और भीख मांगने का कारण जरुर पूछना। इस सर्वे की रिपोर्ट में इस बात का जानकारी मिली है की पुरे भारत में भिखारियों की कुल संख्या 3 लाख 72 हजार भिखारी हैं। यह भी पढ़ें: बालिका बधू में आनंदी की सास स्मिता बंसल पर लगा चोरी का आरोप Also Read - भारत में कोरोना संक्रमण ने फिर पकड़ी रफ्तार, 24 घंटे में COVID-19 के 14,989 नए केस आए

लेकिन इन 3 लाख 72 हजार भिखारियों में से 21 फीसदी ऐसी भिखारी हैं जो की 12 क्लास तक की पढाई कर चुकें हैं यानी आंकड़ो की बात करें तो 12 क्लास तक पढ़े लिखें भिखारियों की कुल संख्या 75 हजार के करीब हैं। तो वहीं तकरीबन 3 हजार ऐसें भिखारी ऐसें हैं जो प्रोफेशनल डिग्री और डिप्लोमा समेत मास्टर की डिग्री ले चुके हैं। वहीं इस प्रोफेशन में आने के बाद पढ़े लिखे भिखारी कहतें है की उनकी इनकम जॉब करने से ज्यादा इसमें हैं और कई साल से इसी तरह से भीख मांग रहें है।