आज के दौर में सभी का एक सपना होता है की उनके पास एक बेहतर नौकरी और सुकून की जिंदगी हो। ऐसे में अगर किसी को अमेरिकन कंपनी में लाखों के सैलेरी पैकेज वाली नौकरी मिलजाए तो माना जाता है की उसे अब जीवन में किसी चीज की कमी है। लेकिन इस बदलते भारत में कुछ कर गुजरने की इच्छा रखने वाले लोगों की कोई कमी नही है और उनमे जज्बा ऐसा की जिसे हर इंसान दिल से सलाम करता है। Also Read - Jodhpur Central jail में छापे में 17 Mobile phone, 18 sim जब्‍त, तस्‍करी में 10 लोग अरेस्‍ट

Also Read - Jammu & Kashmir: Shopian Encounter में LeT के तीन आतंकी ढेर, एक SPO शहीद, एक घायल

दरअसल, जोधपुर की मेघना सिंह अमेरिकन कंपनी में लाखों के सैलेरी पैकज वाली नौकरी को छोड़कर वह भारत के थल सेना की लेफ्टिनेंट बनी हैं। फ़िलहाल मेघना चेन्नई में कड़ी ट्रेनिंग के दौर से गुजर रही हैं। आपको बता दें की मेघना को देश के लिए कुछ कर दिखने का जज्बा इतना बुलंद था की उनकी कड़ी मेहनत ने उन्हें सेना की तीनों विंग जल, थल और वायु सेना की परिक्षाओं में सफलता दिलाई। इन तीनो मेसे मेघना ने थल सेना को चूना। Also Read - सलमान खान को कोर्ट से मिली बड़ी राहत, आर्म्‍स एक्‍ट मामले में सरकार की याचिका खारिज

आपको बता दें की मेघना सिंह जब पढाई कर रही थी उसी दौरान साल 2014 में उन्हें एक अमेरिकन कंपनी म्यू सिग्मा ने सालाना करीब 25 लाख रुपए पैकेज पर नौकरी ऑफर किया। मगर मेघना ने इसके लिए ना बोल दिया और अपने सपने को पूरा करने में लग गई। जिसके परिणाम स्वरुप आज मेघना वह भारत के थल सेना की लेफ्टिनेंट बनी हैं। यह भी पढ़ें: भारतीय सेना ने ऑपरेशन शत्रुजीत में दिखाया अपना पराक्रम

मेघना की पढाई की बात करें तो उन्होंने प्राइमरी स्कूल तक एसपीएस स्कूल में पढ़ाई की उसके बाद मेघना को 10वीं तक की पढाई के लिए माउंट आबू के सोफिया स्कूल में पढ़ने के लिए भेजा गया था। अपने जूनियर कॉलेज की पढाई मेघना ने पिलानी स्थित बिड़ला बालिका विद्यापीठ से पूरी की। आगे बढ़ते हुए उन्होंने एसआरएम यूनिवर्सिटी से शानदार अंकों के साथ कम्प्यूटर साइंस में बीटेक किया जिसके दौरान उन्हें 2014 में बेंगलूरु में संचालित अमेरिकन कंपनी म्यू सिग्मा में नौकरी ऑफर मिला। जिसे छोड़कर उन्होंने देश की सेवा करने का अपना सपना पूरा किया। (फोटो क्रेडिट: न्यूज़24)