gjyhfAlso Read - Chitragupta Pooja 2018: आज के ही दिन होती है चित्रगुप्त पूजा, जानें क्या है इसका महत्व

Also Read - Sawan 2nd Somvar Vrat date and Vidhi: नवमी तिथि के साथ आ रहा है श्रावण का दूसरा सोमवार, जानें, महत्व और पूजन विधि

आंध्रप्रदेश के अनंतपुर में एक ऐसा अनोखा मंदिर हैं जहा एक खंभा ऐसा भी है जो पूरी तरह से हवा में लटका हुआ है और वह जमीन को स्पर्श नहीं करता। इस हवा में झूलते खम्बे की वजह से इस मंदिर को हैंगिंग टेंपल यानी झूलता हुआ मंदिर कहा जाता है। Also Read - Sawan Somvar 2018: जानें, शिवलिंग पर क्यों जढ़ाते हैं बेलपत्र, क्या है महत्व, जानिये बेलपत्र चढ़ाने का सही तरीका

ये भी पढ़ें : जहां भूतों को दी जाती है थर्ड डिग्री!

ज्ञात हो की यह मंदिर 70 खम्बो के आधार पर खड़ा हैं। इस मंदिर में एक और परम्परा हैं। वहा श्रद्धालु लटके हुए खंबे के निचे से एक कपड़ा निकालते हैं। माना जाता है कि इससे परिवार में सुख-शांति और समृद्धि का आगमन होता है।

बताया जाता हैं की पहले सभी खंभों की तरह यह खंभा भी ज़मीन पर टिका हुआ था। सालो पहले एक ब्रिटिश इंजीनियर ने यह जानना चाहा कि यह मंदिर खंभों पर कैसे टिका हुआ है। उसने इस कोशिश में खंभे को हिलाया और उसका धरती से संपर्क टूट गया। तब से लेकर आज तक यह खम्बा हवा में झूल रहा हैं।