मुंबई: अगर किसी का बटुआ 14 साल के बाद सही-सलामत मिल जाए तो उसकी खुशी का अंदाजा शायद नहीं लगाया जा सकता है. ऐसा ही हुआ मुंबई के एक व्यक्ति के साथ जिसका बटुआ 14 साल पहले लोकल ट्रेन में सफर के दौरान किसी ने चुरा लिया था. उसने बहुत तलाशा लेकिन बटुआ नहीं मिला. हैरान -परेशान होकर उसने थाने में आवेदन दिया था और फिर ये जानकर संतोष कर लिया था कि अब नहीं मिलेगा. लेकिन जब उसे पुलिस स्टेशन से फोन आया कि आकर बटुआ ले लो, तो इतने दिनों बाद अपना बटुआ देखकर उसे इतनी खुशी हुई कि वह पुलिस को धन्यवाद बोलता रहा.Also Read - Mumbai Local Train Update: मुंबई लोकल एसी ट्रेन का सफर होगा अब और सस्ता, जानिए कितना हो जाएगा किराया...

घटना  2006 की है जब मुंबई की लोकल ट्रेन में सफर के दौरान हेमंत पडलकर शिवाजी टर्मिनस से पनवल की लोकल ट्रेन में चढ़े थे तो किसी ने उनका बटुआ चुरा लिया. इसकी शिकायत उन्होंने वासी रेलवे पुलिस स्टेशन में दर्ज करायी. पुलिस ने छानबीन की तो बटुआ मिल गया. लेकिन पुलिस शिकायत करने वाले का पता नहीं ढूंढ सकी, जिसकी वजह से बटुआ उसतक नहीं पहुंचाया जा सका. Also Read - Mumbai Local Train: मुंबई में दौड़ने लगी लोकल ट्रेन, नए नियम लोगों के लिए बन रहे मुसीबत, जानिए कैसे..

वासी रेलवे पुलिस स्टेशन के अधिकारी, विष्णु केसालकर ने बताया कि थाने में आवेदन मिलने के बाद हमने चोर को पकड़ लिया था और फिर बटुआ के मालिक की तलाश की. वो नहीं मिला तो बटुआ रख लिया गया था. तलाशी जारी रही और फिर 14 साल के बाद जब वो मिल गया तो बटुआ उसके सुपुर्द कर दिया गया. Also Read - Mumbai Local Train Latest Update:15 अगस्त से शुरू हो रही मुंबई लोकल ट्रेन सेवा, आज से जारी किए जा रहे पास, ले लें अपना QR कोड