मुंबईः महाराष्ट्र के सरकारी जेजे हॉस्पिटल्स ग्रांट मेडिकल कॉलेज की छात्राओं ने ‘छोटी स्कर्ट’ ना पहनने और कार्यक्रमों के दौरान पुरुष साथियों से अलग बैठने के फरमान के खिलाफ प्रदर्शन किया है. उन्होंने दावा किया कि इस आदेश के जरिए अधिकारी ‘मोरल पुलिसिंग’ की कोशिश कर रहे हैं. अधिकारियों ने 21 मार्च को होली के एक कार्यक्रम के बाद ये निर्देश जारी किए. कार्यक्रम में प्रतिष्ठित मेडिकल संस्थान के परिसर में कुछ युवाओं ने हंगामा मचाया और अभद्र व्यवहार किया था.Also Read - Salman Khan ने पड़ोसी पर किया मानहानि का केस, कोर्ट का अंतरिम आदेश देने से इनकार, यूट्यूब, FB, ट्विटर और गूगल भी हैं पक्षकार

अधिकारियों के सर्कुलर के खिलाफ असहमति जताते हुए छात्राओं ने रविवार को टखने तक कपड़े पहनकर और अपना चेहरा ढंककर प्रदर्शन किया. एक प्रदर्शनकारी छात्रा ने बताया कि कॉलेज प्रशासन ने फेसबुक और छात्रावास में रहने वाली लड़कियों के व्हाट्सएप ग्रुप पर इन निर्देशों को विस्तार से बताने वाले पोस्ट साझा किए. Also Read - Covid 19: जिन लोगों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है उनमें से 96 फीसद ने वैक्सीन नहीं लगवाई

इस बारे में संस्थान के डीन डॉ अजय चंदनवाले ने कहा कि छात्राओं से अपेक्षा है कि वे उचित परिधान पहनें. विद्यार्थियों के लिए मेरा यही संदेश है. होली के कार्यक्रम में कुछ हंगामा हुआ इसलिए हमने कड़े कदम उठाने का फैसला किया. उन्होंने कहा कि अगर (विद्यार्थियों को) कोई आपत्ति है तो हम उनका पक्ष सुनेंगे और यथोचित कदम उठाए जाएंगे. Also Read - एक्‍टर सिद्धार्थ की मुश्किल बढ़ीं, साइना नेहवाल के खिलाफ ट्वीट के मामले में हैदराबाद में FIR दर्ज