Also Read - Sea Salt Ke Fayde: समुद्री नमक के हैं कई फायदे, ऐसे करें इस्तेमाल तो दूर हो सकती हैं ये परेशानियां

न्यूयार्क : अगर आपको रोने-धोने और दुखांत फिल्में देखना पसंद है तो आपको अपने वजन पर नजर रखनी चाहिए। एक ताजा रोचक अध्ययन के मुताबिक दुखांत फिल्में देखने वाले दर्शक अपेक्षाकृत अधिक पॉपकॉर्न खाते हैं। अध्ययन के तहत प्रयोगशाला में दर्शकों को दुखद अंत वाली हॉलीवुड फिल्म ‘लव स्टोरी’ और हास्य फिल्म ‘स्वीट होम अलबामा’ दिखाई गई। अध्ययनकर्ताओं के अनुसार, स्वीट होम अलबामा देखने की अपेक्षा लव स्टोरी देखने के दौरान दर्शकों ने 28 फीसदी अधिक पॉपकॉर्न खाया। Also Read - Foods For Glowing Skin: चमकती त्वचा के लिए रोज खाएं ये फूड्स, हमेशा दिखेंगे जवां-जवां

इसके बाद अध्ययनकर्ताओं ने यही प्रयोग सिनेमा हॉल में किया। दर्शकों द्वारा खरीदे गए पॉपकॉर्न के पैकेट गिनकर उनका कुल वजन पता किया गया और सिनेमा हॉल में गिरे पॉपकॉर्न का वजन उसमें से घटाकर दर्शकों द्वारा खाए गए कुल पॉपकॉर्न के वजन का पता लगाया गया। अध्ययनकर्ताओं ने पाया कि ‘माई बिग फैट ग्रीक वेडिंग’ जैसी हल्की-फुल्की फिल्म देखने वाले दर्शकों की अपेक्षा ‘सोलेरिस’ जैसी दुखांत फिल्म देखने वाले दर्शकों ने औसतन 55 फीसदी अधिक पॉपकॉर्न खाया। Also Read - Hair Loss Prevention: झड़ रहे हैं बाल, तो भूलकर भी ना करें ये 7 काम, चंद दिनों में दिखेगा फायदा

अध्ययन के मुख्य लेखक एवं कोरनेल विश्वविद्यालय के फूड एवं ब्रांड लैब के ब्रायन वानसिंक ने कहा, “दुखद फिल्में अपने दर्शकों को सामने पड़े स्वास्थ्यवर्धक खाद्य पदार्थ को खाने के लिए प्रेरित करती हैं। अपने भोजन में स्वास्थ्यप्रद फल या सब्जियां शामिल करने का यह बहुत ही अच्छा तरीका है।” इस प्रयोगशाला द्वारा किए गए एक अन्य अध्ययन का भी इस अध्ययन में समर्थन किया गया है, जिसके अनुसार, मार-धाड़ और रोमांचक फिल्में खाने के प्रति प्रेरित करती हैं, बशर्ते भोजन पहुंच में हो।

अध्ययन में कुछ सुझाव भी दिए गए हैं। अध्ययनकर्ताओं ने अपने शोध में लिखा है, “फिल्में देखते समय कैलोरी बढ़ाने वाली चीजें दूर रखें और उन्हें रसोई में छोड़ देना ही बेहतर है। इच्छाशक्ति की अपेक्षा बेहतर योजना से आप कहीं जल्दी दुबले हो सकते हैं।” शोध पत्रिका ‘जामा इंटर्नल मेडिसिन’ के ताजा अंक में यह शोध-पत्र प्रकाशित हुआ है।