कराचीः जानलेवा कोरोना वायरस(Coronavirus) के प्रसार को रोकने के लिए तमाम देशों में सरकारें लॉकडाउन(Lockdown) का सहारा ले रही हैं. लेकिन, लोगों के हित में ही किए जा रहे इस उपाय को भी लोग तरह तरह के बहाने बनाकर इस लड़ाई को कमजोर बनाने से बाज नहीं आ रहे. पाकिस्तान(Pakistan) के शहर कराची में ऐसी ही एक घटना में तो कुछ लोगों ने लॉकडाउन के बाहर निकलने के लिए सारी हदें पार कर दीं Also Read - Corona New Varient: सर्दियों में कोरोना के नए वेरिएंट की हो सकती है एंट्री, ब्रिटेन में लग सकता है लॉकडाउन

कराची में कुछ लोगों को घूमने की ऐसी तलब लगी थी कि उन्होंने बाहर निकलने के लिए एक अनोखा तरीका अपनाया और इसके लिए एक जिंदा आदमी को मुर्दा बनाकर ले गए. पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, लॉकडाउन में एंबुलेंस को आवाजाही की छूट हासिल है. इसी छूट की आड़ में कुछ लोग ‘फर्जी शव’ लेकर एंबुलेंस से यात्रा पर निकल पड़े. Also Read - COVID 19 Cases In India: 1 दिन में 53 हजार से अधिक लोग हुए कोरोना संक्रमित, 1,422 लोगों की हुई मौत

रिपोर्ट में बताया गया है कि दस लोगों ने कराची से खैबर पख्तूनख्वा तक जाने के लिए एक एंबुलेंस वाले से साठगांठ की. इस मामले में सबसे खास बात यह रही कि प्रशासन को बेवकूफ बनाने के लिए इन लोगों के पास किसी दूसरे व्यक्ति की मृत्यु का प्रमाणपत्र भी था. इन्होंने अपने बीच के एक शख्स को ‘शव’ में बदल दिया. उसे कफन में लपेटा, एंबुलेंस में रखा और यात्रा पर निकल पड़े. Also Read - International Yoga Day 2021 Live: योगमय देश-दुनिया, ऐसे मनाया जा रहा 7वां योग डे

सुपर हाईवे पर एक बैरियर पर पुलिसकर्मियों ने एंबुलेंस को रोका तो उसमें करीब दस लोग सवार मिले. पूछताछ में उन्होंने बताया कि उनके रिश्तेदार की मौत हो गई है और वे शव को लेकर अपने पैतृक गांव जा रहे हैं. इन लोगों ने अपने पास मौजूद पुराना मृत्यु प्रमाणपत्र दिखाया. पुलिसवालों को इनके हावभाव से शक हुआ. उन्होंने कफन को हटाया तो ‘मुर्दा’ घबराकर उठ गया.

पुलिस ने इन सभी दस लोगों को कुछ देर हिरासत में रखने के बाद छोड़ दिया लेकिन एंबुलेंस चालक को गिरफ्तार कर लिया और एंबुलेंस जब्त कर ली. चालक ने बताया कि उसने इन लोगों से यात्रा के लिए 52 हजार रुपया लिया था.