Real Heroes: लोगों की जिंदगी बचाने के लिए अपना जीवन दांव पर लगा देने वाली भारतीय सेना के जज्बे की एक और कहानी लोगों को भावुक कर रही है. एक गर्भवती महिला को बचाने के लिए भारतीय सेना किस हद तक जा सकती है, ये देख लोग इन्हें सलाम कर रहे हैं.Also Read - Army Combat Uniform: शानदार होगी भारतीय सेना की नई कॉम्बैट यूनिफॉर्म, जानें खासियत, देखें तस्वीर

दरअसल, भारतीय सेना के जवानों ने कश्मीर के कुपवाड़ा में बर्फ में फंसी एक गर्भवती महिला को बचाया है. इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही हैं. Also Read - दुनिया का सबसे बड़ा राष्ट्रीय ध्वज 'तिरंगा' पाक बॉर्डर के पास प्रदर्शित किया गया

महिला की जान बचाने के लिए सेना के जवान दो किलोमीटर तक घुटने तक जमी बर्फ में पैदल चले. इस दौरान उन्होंने गर्भवती महिला को कंधे पर ले रखा था. Also Read - Indian Army Day 2022: भारतीय सेना 15 जनवरी को ही क्यों मनाती है थल सेना दिवस, जानें पुराने किस्से

जानकारी के अनुसार, कुपवाड़ा के करालपुरा में सेना के पास मंजूर अहमद शेख नामक शख्स का फोन आया. उसने सेना से कहा कि उसकी पत्नी शबनम बेगम को प्रसव पीड़ा हो रही है और उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाने की जरूरत है.

भारी बर्फबारी और खराब मौसम के कारण, ना तो सामुदायिक स्वास्थ्य सेवा वाहन और ना ही नागरिक परिवहन उपलब्ध था. सड़क पर जमी बर्फ साफ करना भी संभव नहीं था.

स्थिति की गंभीरता को देखते हुए, सेना के जवान एक नर्सिंग स्टाफ और चिकित्सा उपकरणों के साथ मौके पर पहुंचे.

सेना के जवानों ने महिला और परिवार को घुटने पर जमी बर्फ में दो किलोमीटर तक पहुंचाया, जहां से महिला को करालपुरा अस्पताल ले जाया गया. अस्पताल पहुंचने पर महिला को तुरंत चिकित्सा कर्मचारियों ने देखभाल शुरू कर दी.

सेना ने एक बयान में कहा, पीड़ित परिवार और नागरिक प्रशासन ने मानवीय प्रयासों के लिए सेना की टुकड़ी को धन्यवाद दिया और संकट के वक्त सेना को अवाम के सच्चे दोस्त के रूप में सराहा.

बच्चे के जन्म के बाद पिता सैनिकों को मिठाई बांटने ऑपरेटिंग बेस पर पहुंचे. बता दें कि अब तक सेना के जवानों ने कश्मीर में दो दर्जन से अधिक गर्भवती महिलाओं को बफीर्ले इलाकों से बाहर निकाला है.
(एजेंसी से इनपुट)