मध्यप्रदेश की नगरी उज्जैन में सिहंस्थ महाकुंभ को शुरू हुए महज 3 दिन ही हुआ है। लेकिन इन महज तीन दिनों में व्यवस्था की पोल खुलने लगी है। इस बार के मेले में चोरी की घटना काफी बढ़ रही है और उसके कारण साधूसंत काफी नाराज हैं। चोरो से परेशान अब साधुओं चेतावनी देते हुए प्रसाशन को कहा की अगर कुछ दिनों में चोरी और पर लगाम नही लगा तो वो सिहंस्थ महाकुंभ को छोड़कर चले जाएंगे। Also Read - मिसाल: 80 साल की उम्र में 'दादी अम्मा' ने पीएचडी की, देखें हौसलों की उड़ान...

Also Read - Chintaman Ganesh Temple: उज्जैन के चिंतामन गणेश मंदिर में बेचे जाएंगे चांदी के सिक्के, कीमत जल्द की जाएगी तय

वहीं कुंभ ने स्नान को लेकर महामंत्री हरि गिरि ने भी प्रशासन पर जमकर भड़ास निकाली। उनका कहना है कि शाही स्नान में सबसे पहले नागा और साधु-संत स्नान करते हैं, उसके बाद आम लोग नहाते हैं। मगर उज्जैन के संभागायुक्त और जिलाधिकारी ने परंपराओं का मजाक उड़ाया और खुद पहले डुबकी लगा ली। अपना पक्ष रखते हुए उन्होंने कहा की यहां पर संतो की अनदेखी हुई है और अगर अब इस पर अमल नही हुआ तो हम मेला छोड़देंगे। यह भी पढ़ें : सिंहस्थ कुंभ 2016: 13 प्रमुख अखाड़ो के अलावा शामिल होगा किन्नर अखाड़ा Also Read - मध्य प्रदेश: उज्जैन में जहरीली शराब से 11 लोगों की मौत, 5 पुलिसकर्मी निलंबित

वहीं मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रसाशन ने पूरा भरोसा दिलाया है की उचित व्यवस्था किया जाएगा साथ ही अगले शाही स्नान में सभी 13 अखाड़ों को शामिल किया जाएगा। कुंभ मेले के दौरान सामान की चोरी की घटना काफी बढ़ रही है और सुरक्षा के लिहाज से मध्यप्रदेश की सरकार कोई कमी नही रखना चाहती है। आपको बता दें की इस पुरे मेले पर ड्रोन के जरिये नजर रखा जा रहा है। वहीं इस बार के कुंभ स्नान के दौरान 50 लाख भक्तों के पहुचने की उम्मीद थी लेकिन अब तक सिर्फ 10 लाख ही पहुंच पाए हैं।