वॉशिंगटन. वैज्ञानिकों ने कम लागत वाली एक नई सुरक्षा प्रणाली विकसित की है. यह प्रणाली उंगलियों के कंपन के आधार पर व्यक्ति को सटीक ढंग से पहचान कर उन्हें स्मार्ट घरों, कारों और उपकरणों तक पहुंच दे सकती है. स्मार्ट एक्सिस प्रणाली को वाइबराइट कहा जाता है.Also Read - Top 5 Electric Cars: जानिए भारत की 5 सबसे अच्छी इलेक्ट्रिक कार्स के बारे में | Watch Video

जब उंगलियां किसी ठोस सतह को छूती है तो यह प्रणाली यूजर को सत्यापन की इजाजत देती है. इसे अमेरिका की रूटगर्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने विकसित किया है. यह प्रणाली पासकोड, व्यवहार और शारीरिक गुणों को मिलाकर बनाई गई है. यह कंपन संकेतों पर आधारित है. Also Read - कोरोना महामारी के बीच Honda की इन कारों पर मिल रहा है Big Discount, नकद छूट से साथ और भी कई लाभ

69-year-old Indian Grandma Playing Table Tennis, Video Goes Viral | 69 साल की उम्र में दादी ने खेला टेबल टेनिस, वीडियो हुआ वायरल

69-year-old Indian Grandma Playing Table Tennis, Video Goes Viral | 69 साल की उम्र में दादी ने खेला टेबल टेनिस, वीडियो हुआ वायरल

यह परंपरागत पासवर्ड आधारित प्रणालियों से अलग है. यह बायोमेट्रिक आधारित प्रणालियों से भी अलग है जिनमें टच स्क्रीन, फिंगरप्रिंट रीडर या अन्य महंगे हार्डवेयर शामिल है जिन्हें लेकर सुरक्षा संबंधी चिंता बनी रहती है. यूनिवसिटी के प्रोफेसर यिंगयिंग चेन ने कहा, हर किसी की उंगली की हड्डी का ढांचा अनोखा होता है, हर किसी की उंगली सतह पर अलग-अलग दबाव बनाती है. सेंसर शारीरिक और व्यवहार संबंधी अंतर को पहचान कर सटीक व्यक्ति की पहचान कर सकते हैं. Also Read - Anupamaa Rupali Ganguly Childhood Pics: तस्वीरों में देखिए 'अनुपमा' का बचपन, 7 साल की उम्र में की थी पहली फिल्म