#गीता_भाटी_का_सैंडल_वापस_करो: दिल्ली की सीमा पर चल रहे किसानों के विरोध प्रदर्शन के बीच, एक महिला किसान का दावा सोशल इंटरनेट पर खूब वायरल हो रहा है. ठाकुर गीता भाटी नाम की महिला ने दावा किया है कि “किसानों को विरोध करने से रोकने के लिए पुलिस और सरकार ने उनकी सैंडल छीन लीं.”Also Read - कैप्‍टन अमरिंदर सिंह जल्‍द अपनी पार्टी की घोषणा करेंगे, BJP समेत इन दलों से कर सकते हैं गठबंधन

ये महिला किसान नेता नए कृषि कानूनों के खिलाफ ग्रेटर नोएडा में विरोध कर रहे समूह का हिस्सा हैं. विरोध स्थल से उनका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. महिला का वीडियो वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर उनके नाम से टॉप ट्रेंड करने लगा. लोग ‘#गीता_भाटी_का_सैंडल_वापस_करो’ नाम से हैशटैग को टॉप ट्रेंड कराने लगे. Also Read - मेघालय के राज्‍यपाल सत्यपाल मलिक का बयान, किसानों की नहीं सुनी तो यह सरकार दोबारा नहीं आएगी

वीडियो में दिख रही महिला ने बताया कि वे किसान एकता संघ के महिला मोर्चा की अध्यक्ष हैं और उनका नाम ठाकुर गीता भाटी है. वीडियो में देखा जा सकता है कि महिलाओं और किसान समूहों के अन्य सदस्यों से घिरीं, गीता भाटी ने दावा किया कि सरकार और पुलिस ने उनकी चप्पलें “छीन ली” ताकि विरोध को रोका जा सके. Also Read - Sindhu Border Lynching Case: सोनीपत कोर्ट ने तीन आरोपियों को 6 दिन की पुलिस कस्‍टडी में भेजा

वह कैमरे पर बात करती देखी जा सकती है. वे कहती हैं, “मैं ठाकुर गीता भाटी, किसान एकता संघ महिला विंग की अध्यक्ष हूं. पुलिस और सरकार ने यह सोचकर मेरी चप्पलें छीन लीं कि किसान विरोध करना बंद कर देंगे. लेकिन, मैं नंगे पैर लड़ूंगी. मैं उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराऊंगी. मैंने किसी तरह से एक जोड़ी चप्पल खरीदी थी. अब, मैं उन्हें कहाँ से लाऊँगी? सरकार को मेरे सैंडल वापस करने होंगे.”

बता दें कि केंद्र के नए कृषि कानूनों को रद्द किये जाने की मांग को लेकर बीते 11 दिनों से दिल्ली की सीमा पर प्रदर्शन कर रहे कृषक संघों द्वारा आठ दिसंबर को बुलाए गए ‘भारत बंद’ का रविवार को कई क्षेत्रीय दलों समेत विपक्षी दलों ने समर्थन करने का ऐलान किया है.