स्ट्रीट लाइट कहीं तो दिन भर जली मिलती हैं तो कई बार रात को जरूरत के समय जलती ही नहीं. अब इस समस्या से निजात दिलाने के लिए दो नौजवानों ने स्मार्ट स्विच तैयार किए हैं.Also Read - यूपी में उद्योगों को लगेंगे पंख, बिग-अल्फा और एमएसएमई स्टार्टअप फोरम के बीच हुआ करार

दोनों कानपुर के रहने वाले हैं. ये स्विच सूर्योदय और सूर्यास्त के हिसाब से काम करेंगे. इसे ऊर्जा की बचत होगी. Also Read - UP Elections 2022: BJP ने पहली ही लिस्‍ट में दिखाया OBC मैनेजमेंट, विरोधियों के आरोपों का क्‍या हुआ?

स्टार्टअप के तहत ये स्विच शिवशंकर और शुभांकर बंका ने बनाए है. ट्रायल के तौर पर उन्होंने लखनऊ, कानपुर समेत प्रदेश के कई जिलों में इसे लगाया है, जो कि अच्छा काम कर रहे हैं. Also Read - UP Elections 2022: राष्‍ट्रीय लोकदल ने जारी की 7 उम्‍मीदवारों की अपनी सूची

कानपुर के रहने वाले कम्प्यूटर साइंस के शिवशंकर और सीए शुभांकर ने स्ट्रीट लाइट आटोमेशन एंड मैनेंजिंग पावर सिस्टम बनाया है. सॉफ्टवेयर से संचालित ये स्विच सूर्योदय और सूर्यास्त के समय को पहचान कर खुद ब खुद लाइट को ऑन-ऑफ करेगा.

शुभांकर ने बताया कि जैसे पंचाग में सूर्योदय और सूर्यास्त का समय बताया जा सकता है, 150 वषों तक गणना करता है, ठीक उसी तरह इस स्विच से सूरज उगते समय लाइट ऑन हो जाती है और सूरज अस्त के समय लाइट बंद हो जाती है. इससे बहुत सारी ऊर्जा का बचाव होता है. इससे लाइटों की लाइफ भी बढ़ती है.

उन्होंने बताया कि बाजार में सेंसर वाले स्विच बहुत सारे हैं जो अंधेरे में ऑन होता है. लेकिन यह मौसम की आद्रता से जल्दी खराब हो जाते हैं. तो हमने सोचा कि क्यों न ऐसा विकल्प बनाएं जो काफी समय तक चले.

उन्होंने बताया कि इसमें माइक्रो प्रोसेसर लगा है जो सॉफ्टवेयर की मदद से चलता है. सॉफ्टवेयर साथ में जुड़ा है. इस सॉफ्टवेयर की मदद से स्विच को गर्मी में देर से होने वाली रात या जल्दी होने वाली सुबह और सर्दी में जल्दी होने वाली रात और देर से होने वाले सूर्योदय का भी पता रहता है. पंचाग की तर्ज पर रोज सूर्योदय, सूर्यास्त का समय देख सकते हैं, उसी तरह यह स्विच भी खुद समय पता कर स्विच को ऑन-ऑफ करता है.

शुभांकर ने बताया कि 500 वॉट, एक किलोवॉट, दो किलोवॉट और पांच किलोवॉट में ये स्विच तैयार किये गये हैं. इसमें क्षमता के अनुरूप लाइट जोड़ी जा सकती हैं, मसलन 500 वॉट के स्विच से सौ वॉट की पांच लाइट ऑन-ऑफ होंगी. इसमें माइक्रो कम्प्यूटर है. इसका बैट्री बैकप 10 साल का है. इसे लखनऊ , कानपुर के अलावा नगर पालिकाओं बंगरमऊ, मल्लावा, हरदोई, शाहजहांपुर, शाहबाद में लगाया गया है. हर वॉट के हिसाब से इसकी कीमत रखी गयी है.

बंका ने बताया कि लखनऊ के नगर-निगम ने इसे लखनऊ के जागरण चौराहे पर लगाया है. कानपुर में कुछ पार्कों का ऑर्डर मिला है और जहां नये पार्क बन रहे हैं वहां भी इस स्विच को लगाया जाना है. हारकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय (एचबीटीयू) इलेक्ट्रिकल विभाग ने इसे सर्टिफिकेट भी दिया है.
(एजेंसी से इनपुट)