UPSC-CSE 2020 के टॉपर शुभम कुमार को आज पूरा देश जानता है. बिहार के रहने वाले शुभम कुमार (Shubham Kumar) ने यूपीएससी की परीक्षा में टॉप कर पूरे बिहार का मान बढ़ाया है. लेकिन शुभम कुमार को चाहने वाले व उनसे प्रेरणा लेने वाले लोग उन्हें सोशल मीडिया पर धडल्ले से तलाश रहे हैं. शुभम की पॉपुलैरिटी इतनी बढ़ गई है कि उनकी खबरें लगभग हर जगह छाई हुई है. ऐसे में शुभम कुमार के साथ ट्विटर पर एक गड़बड़ झाला हो गया है.Also Read - UPSC CDS II Admit Card 2021 Released: जारी हुआ UPSC CDS II 2021 का एडमिट कार्ड, इस Direct Link से करें डाउनलोड

अमूमन यूपीएससी की परीक्षा टॉप करने के बाद अक्सर देखने को मिलता है कि टॉपर्स के फॉलोवर्स जो टॉपर होने से पहले गिने चुने होते थे. टॉप करने के बाद फॉलोवर्स लाखों में पहुंच जाते हैं. अपाला मिश्रा (Apala Mishra) हों या टीना डाबी की बहन रिया डाबी (Tina Dabi’s Sister Ria Dabi) इनके फॉलोवर्स की संख्या खूब तेजी से बढ़ी है. लेकिन सिविलि सेवा परीक्षा में पहला स्थान पाने वाले शुभम कुमार के नाम पर ट्विटर पर फर्जी आईडी की बाढ़ सी आ गई है. Also Read - UPSC NDA Admit Card 2021: यूपीएससी एनडीए परीक्षा का ए़डमिट कार्ड जानें कब होगा जारी, यहां जानें गलती होने पर क्या करें?

शुभम कुमार के यूपीएससी टॉप करने के बाद वे सुर्खियों में आ गए और उनके नाम से फेसबुक, ट्विटर लगभग सभी सोशल मीडिया वेबसाइट्स पर उनकी फर्जी आईडी बना दी गई. फर्जी आईडी बनाने वाले लोग खुद को शुभम कुमार बता रहे हैं और बायो में उन्होंने लिखा है गवर्मेंट ऑफिशियल, रैंक-1 UPSC-CSE 2020 #UPSCRESULT2020. इन फर्जी अकाउंट्स से तेजी से ट्वीट्स किए जा रहे हैं. ऐसे में इन अकाउंट्स पर फॉलोवर्स की संख्या भी बढ़ रही है लेकिन असली शुभम कुमार की पहचान मुश्किल हो गई है. Also Read - UPSC Recruitment 2021: संघ लोक सेवा आयोग में विभिन्न पदों पर निकली नौकरी, जल्दी करें आवेदन

बता दें कि ट्विटर के अलावा फेसबुक पर भी मिलते जुलते फर्जी अकाउंट्स मिल रहे हैं, जिसे शुभम कुमार का अकाउंट बताया गया है. शुभम कुमार ने हाल ही में एक सभा में अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल के बारे में जानकारी साझा की थी, जिसे उन्होंने खुद का असली अकाउंट बताया था. बावजूद इसके फर्जी अकाउंट्स धडल्ले से ट्वीट कर रहे हैं और गलतफहमी के शिकार लोग फर्जी अकाउंट्स को शुभम का मानकर फॉलो भी कर रहे हैं.