Bride In Helicopter: प्यार हो तो इंसान हर मंजिल को हासिल कर लेता है. राजस्थान में एक दूल्हे ने यही कर दिखाया. वो अपनी दुल्हन के सपने को हकीकत में बदलने के लिए शादी समारोह के बाद उसे हेलीकॉप्टर से अपने घर लाया.Also Read - Optical Illusion: पेड़ पर बैठे हैं 3 उल्लू पर खोज पाना आसान नहीं, बड़े-बड़े उस्तादों के छूट गए पसीने । ढूंढो तो मानें

भरतपुर जिले के वैर सबब्लॉक में रायपुर गांव के रहने वाले दूल्हे सियाराम गुर्जर ने सोमवार को अपने ससुराल में एक हेलिकॉप्टर किराए पर लिया और मंगलवार को अपनी पत्नी के साथ उड़ान भरकर अपने गांव वापस लाया. Also Read - पत्नी से सुरक्षा के लिए प्रिंसिपल पति ने कोर्ट में लगाई गुहार, कभी डंडा तो कभी बल्ले से बनता था शिकार; CCTC में कैद हुई करतूत

किसान का बेटा सियाराम गुर्जर पत्नी के अलावा अपने भाई करतार सिंह और बहनोई रामप्रसाद के साथ हेलिकॉप्टर पर सवार हुआ. Also Read - शशि थरूर ने Indian Railway को घेरते हुए लिख दिया ऐसा शब्द, डिक्शनरी खोलकर बैठ गया सोशल मीडिया

विदाई के समय प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी यह सुनिश्चित करने के लिए घटनास्थल पर पहुंचे कि कहीं कोविड गाइडलाइन को विफल न कर दिया जाए, क्योंकि हेलीकॉप्टर की एक झलक पाने के लिए वहां बड़ी भीड़ जमा हो गई थी.

गुर्जर ने कहा कि उनकी पत्नी रमा का एक हेलीकॉप्टर में बैठकर ‘पिया के घर’ जाने का सपना था और इसलिए उन्होंने एक हेलिकॉप्टर किराए पर लिया, जिसकी कीमत 7 लाख रुपये थी.

रमा ने कहा कि अपने ससुराल जाने के लिए हेलिकॉप्टर की सवारी करना उनका सपना था, जिसे अब हकीकत में बदल दिया गया है.

नदबई तहसील के गांव कारिली से हंसराज गुर्जर की बेटी रमा के साथ सियाराम गुर्जर की शादी धूमधाम से हुई.

शुरुआत में, जिला कलेक्टर के साथ-साथ सीएमएचओ ने क्षेत्र में बढ़ते कोविड-19 मामलों के मद्देनजर बारात के लिए हेलिकॉप्टर किराए पर लेने के लिए दूल्हे के दिए आवेदन को खारिज कर दिया था. हालांकि, बाद में कुछ नियम और शर्तो के साथ अनुमति दी गई, जिसका दूल्हे ने विधिवत पालन किया.

इस तरह दुल्हन की असामान्य विदाई कस्बे में चर्चा की बात बन गई.
(एजेंसी से इनपुट)