फोटो क्रेडिट-जी न्यूज़Also Read - Health Tips: रात में सोने से दूध का सेवन करना कितना लाभदायक है? वीडियो देखें

Also Read - Neeraj Chopra Then Vs Now: कभी मोटापे से परेशान थे गोल्ड मेडलिस्ट Neeraj Chopra, उनकी Fitness Journey देखकर हो जायेंगे हैरान

अक्सर देखा जाता है कि लोग बढ़ी हुई चर्बी से परेशान हैं। इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण होता है अच्छे से अपने स्वास्थ का ध्यान ना देना। जिससे आपकी हालत ख़राब हो जाती है। लेकिन क्या इसे नियंत्रित करने के लिये हम सही व्यायाम और सही खानपान का सहारा लेते हैं? Also Read - Explained: Inhaler कैसे इस्तेमाल करें, जानें सही तरीका, फायदे और नुकसान Pulmonologist Dr. HB Chandrashkehar द्वारा

सी कड़ी में हम कुछ आसान टिप्स बता रहे हैं जिनसे आपको फेट कम करने में मदद मिलेगीः

मीठे सॉफ्ट ड्रिंक्स से दूर रहें।

अध्ययन बताते हैं कि सॉफ्टड्रिंक्स में मिली शुगर हमारी मेटाबॉलिक हेल्थ के लिये बेहद खतरनाक होती है। फ्रक्टोज की मात्रा ज्यादा होने के चलते इससे फेट बढ़ जाता है।

एरोबिक्स करें।

व्यायाम से कई तरह के शारीरिक फायदे होते हैं। अतिरिक्त फेट को कम करने में भी यह बेहद मददगार है। एरोबिक्स जैसे चलना, दौड़ना, तैरना आदि बेहद मददगार साबित हो सकते हैं। यह भी पढ़े-मोबाइल है बीमारियों की दुकान

फाइबर युक्त पदार्थों का सेवन।

फाइबर का उचित मात्रा में सेवन करना चाहिये। खासतौर पर फल, सब्जियां, मोटे अनाज और बींस का सेवन करना चाहिये, क्योंकि ये लसदार (विस्कस) फाइबर के अच्छे स्रोत होते हैं।

दही का सेवन करने से शरीर की फालतू चर्बी घट जाती है। छाछ का भी सेवन दिन में दो-तीन बार करना लाभदायक है।गरम पानी में नींबू का रस और शहद घोलकर रोज सुबह खाली पेट पिएं। इससे पेट सही रहेगा और मोटापा दूर होगा। यह भी पढ़े-मानसिक स्वास्थ्य का राज खोलता है सेक्स

ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो मोटापा घटाने के साथ-साथ चेहरे की झुर्रियों को भी दूर करता है। ग्रीन टी को बिना चीनी के पीने से इसका फायदा जल्द होता है।

बताना चाहेंगे कि कई अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि जब लोग कार्बोहाइड्रेट्स का सेवन कम करते हैं तो भोजन के प्रति उनकी इच्छा भी कम होती है। लो-कार्ब फेट्स तोंद कम करने में मदद करते हैं।

जिस व्यक्ति का BMI यानी बॉडी मास इंडेक्स 25 से 29.9 के बीच होता है, उसे डॉक्टरी भाषा में ओवरवेट या ज्यादा वजनदार कहा जाता है। दूसरी ओर जब BMI 30 या उससे अधिक होता है, तो इसे मोटापा कहा जाता है। मोटापा घटाने के लिए खान-पान में सुधार जरूरी है।