What Is Disease X: दुनिया इस समय कोरोना महामारी की चपेट में है. लोग इसी आस में हैं कि जल्द से जल्द ये महामारी खत्म हो और वो चैन की सांस ले सकें. जिंदगी फिर से पटरी पर आ जाए. पर इस बीच, एक ऐसी खबर आई है जो डराने वाली है. वैज्ञानिकों ने ऐसी चेतावनी दी है जो किसी के भी रौंगटे खड़े कर दे.Also Read - Disease X: क्या बला है 'डिजीज एक्स', क्या कोविड से भी बड़ी महामारी देखेगी दुनिया, जारी किया गया Alert

दरअसल, वैज्ञानिकों ने कहा है कि दुनिया में नई बीमारी दस्तक दे सकती है. ये एक घातक वायरस होगा. इसका नाम है ‘डिसीज एक्स’ (Disease X).

वैज्ञानिकों ने कहा है कि ये बीमारी कोविड​​-19 (COVID-19) की तरह ही तेजी से फैल रही है और इबोला वायरस (Ebola virus) की तरह घातक साबित हो सकती है.

ये चेतावनी इसलिए भी अधिक घातक लग सकती है क्योंकि इसे साल 1976 में इबोला की खोज करने में मदद करने वाले वैज्ञानिक प्रोफेसर जीन-जैक्स मुएम्बे टैमफम ने जारी किया है.

उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि ये बीमारी दुनिया भर में भयंकर विनाश का कारण बन सकती है. टैमफम ने ये भी कहा है कि दुनिया को सतर्क हो जाना चाहिए क्योंकि अफ्रीका के उष्णकटिबंधीय रेनफॉरेस्ट से कई नए तरह के घातक वायरस निकल रहे हैं. ये वायरस मानव सभ्यता के लिए विनाशकारी हो सकते हैं.

ये चेतावनी आने के बाद से बीमारी सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रही है. लोग ये जानने को उत्सुक हैं कि आखिर इसमें होता क्या है और कब ये पूरी दुनिया को अपनी चपेट में लेगी.

बहरहाल, वैज्ञानिकों ने कहा है कि हम ऐसे दौर में हैं, जहां नई तरह की बीमारियां दस्तक देंगी. जो दुनिया भर के लिए परेशानी का सबब बनेंगी. लोगों को समझ ही नहीं आएगा कि इनका सामना कैसे किया जाए.

उन्होंने कहा कि Disease X कोविड-19 से भी बदतर साबित हो सकती है. बता दें कि कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य (Democratic Republic of the Congo) के इंगेंडे क्षेत्र में एक मरीज इस बीमारी की चपेट में आ चुका है. उसमें इस रक्तस्रावी बुखार के शुरुआती लक्षण दिखे हैं. पहले डॉक्टर्स इसे इबोला समझ रहे थे, पर जांच में पता चला कि ये डिसीज एक्स के आरंभिक लक्षण हैं.