चैत्र नवरात्रि का आठवा दिन है। आज माता के आठवे रूप माता महागौरी की पूजा होती है। कहा जात है कि इन नौ दिनों में अगर पूरी श्रद्धा से माता की आराधना करो, तो आपके मन की हर इच्छा पूरी होती है और आपके जीवन की हर कठिनाई दूर हो जाती है। इसलिए कहा जाता है कि इन नौ दिनों में अपने चित्त को माँ के ध्यान में लगाना चाहिए, जिससे आपकी हर इच्छा पूरी हो। आपको बता दें की जब सृष्टि नहीं थी, चारों तरफ अंधकार ही अंधकार था, तब इसी देवी ने अपने ईषत्‌ हास्य से ब्रह्मांड की रचना की थी। इसीलिए इसे सृष्टि की आदिस्वरूपा या आदिशक्ति कहा गया है।Also Read - Shardiya Navratri Maha Ashtami 2020: महाष्टमी के दिन करें मां महागौरी की पूजा, जानें विधि,मंत्र एवं महत्व

Also Read - Worship goddess Katyayani on sixth day of Chitra Navratri । चैत्र नवरात्रि 2016: मां कात्यायनी को प्रसन्न करने के उपाय

माता महागौरी शक्ति अमोघ और सद्यः फलदायिनी है। इनकी पूजा से सभी कल्मष ख़तम हो जाते हैं, पूर्व जन्म के पाप भी विनष्ट हो जाते हैं। माँ की पूजा से माना जाता है की पति की आयु बढ़ती है। महिलाएं पति के लम्बी उम्र के लिए माता का व्रत करती हैं। यह भी पढ़ें: माँ कालरात्रि को प्रसन्न करने के उपाय Also Read - Worship goddess Kooshmanda worship on fourth day of Chitra Navratri । चैत्र नवरात्रि 2016: मां कुष्मांडा को प्रसन्न करने के उपाय

माता महागौरी की पूजा और आराधना से किसी प्रकार के रूप और मनोवांछित फल प्राप्त किया जा सकता है। उजले वस्त्र धारण किये हुए महादेव को आनंद देवे वाली शुद्धता मूर्ती देवी महागौरी मंगलदायिनी हों। माता को प्रसन्न करने के लिए इस मंत्र का करें जाप। “श्वेत वृषे समारूढ़ा श्वेताम्बर धरा शुचि:। महागौरी शुभं दद्यान्महादेव प्रमोददा॥“