West Bengal Assembly Election 2021: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोलते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी बंगाल के लोगों की आकाँक्षाओं पर खरा उतरने में विफल रही हैं. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पश्चिम बंगाल सरकार पर हमला करते हुए आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस राज्य को “हर क्षेत्र में” पीछे लेकर गई है. शाह ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से रैली को संबोधित किया. इस रैली में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी शामिल हुईं. ईरानी ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 से पहले बंगाली भाषा में हावड़ा रैली को संबोधित किया.Also Read - गणतंत्र दिवस परेड से बंगाल की झांकी हटाई गई, केंद्र के फैसले से ‘स्तब्ध’ ममता बनर्जी ने PM मोदी को लिखा पत्र

इस दौरान अमित शाह ने बताया कि क्यों तृणमूल कांग्रेस के नेता भाजपा में शामिल हो रहे हैं. उन्होंने कहा, “ममता बनर्जी बंगाल के लोगों की आकाँक्षाओं पर खरा उतरने में विफल रही हैं, इसलिए तृणमूल के नेता भाजपा में शामिल हो रहे हैं, उन्हें आत्मचिंतन करना चाहिए.” Also Read - West Bengal में कोरोना प्रतिबंध 31 जनवरी तक बढ़ाए गए, शादी में 200 मेहमानों को इजाजत

पश्चिम बंगाल के हावड़ा में वर्चुअली एक रैली को संबोधित करते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “हमारे कम्युनिस्ट भाई बंगाल को जहां छोड़ कर गए थे ममता बनर्जी ने बंगाल को उससे भी नीचे गिराने का काम किया है. ममता जी आपको बंगाल की जनता कभी माफ नहीं कर सकती.” Also Read - Photos: देश में मकर संक्रांति, पोंगल, माघ बीहू, भोगी और उत्तरायण पर्व के ब‍िखरे रंग, लाखों लोगों ने स्‍नान किया

उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार आने के बाद हम पहली कैबिनेट में ये प्रस्ताव करेंगे कि पूरे बंगाल में गरीब लोगों को प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना का पूरा फायदा मिले. बंगाल के अंदर परिवर्तन की जो लहर चली है उसे दीदी आप रोक नहीं सकती हैं.

अमित शाह ने कहा, “जिस प्रकार से बड़ी मात्रा में तृणमूल कांग्रेस, कम्युनिस्ट पार्टी के नेता, कांग्रेस पार्टी के अच्छे नेता भाजपा में शामिल हो रहे हैं, ममता दीदी चुनाव आते-आते आप पीछे मुड़कर देखना आप अकेली खड़ी रह जाओगी. कोई और साथ देने वाला आपके साथ नहीं होगा.”

अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी ने बंगाल की भूमि को रक्त-रंजित किया है, बंगाल की भूमि को घुसपैठियों के घुसने के लिए खुला छोड़ दिया है. शाह ने आगे कहा कि मोदी सरकार जनकल्याण के लिए प्रतिबद्ध है और ममता दीदी की सरकार भतीजा कल्याण में व्यस्त है. इनके लिए बंगाल की जनता का कल्याण एजेंडा नहीं है.