West Bengal Assembly Elections 2021: पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव 2021 के प्रचार के दैरान भाजपा और टीएमसी के नेताओं के बीच जुबानी जंग लगातार चल रही है. दोनों पार्टियां के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. पश्चिम बंगाल के चौथे फेज की वोटिंग से पहले दोनों पार्टियां जोरदार प्रचार कर रही है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal CM Mamata Banerjee) ने बुधवार को भाजपा पर हमला करते हुए दावा किया कि पार्टी अपने एजेंडे के अनुरूप कई स्थानों के इतिहास को बदलना चाहती है.Also Read - महुआ मोइत्रा के बचाव में आए शशि थरूर, कहा- वह किसी की भावनाओं को आहत नहीं करना चाहती थीं

तृणमूल कांग्रेस (TMC) प्रमुख ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा ‘अधिनायकवादी शासन’ लागू करेगी, जिसमें वह तय करेगी कि लोगों को क्या खाना चाहिए और क्या पहनना चाहिए. बनर्जी ने चुनावी सभा में कहा कि उन्होंने (BJP) कई स्टेशनों के नाम बदल दिए. उन्होंने क्रिकेट स्टेडियम का नाम प्रधानमंत्री के नाम पर कर दिया. वह दिन दूर नहीं जब वे आपका और हमारा नाम भी बदल देंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा अपने एजेंडे के अनुरूप कई स्थानों के इतिहास को बदलना चाहती है. हालांकि, उन्होंने रेलवे स्टेशनों या किसी स्थान के नाम का जिक्र नहीं किया. Also Read - स्मृति ईरानी को मिला मुख़्तार अब्बास नकवी का मंत्रालय, ज्योतिरादित्य सिंधिया संभालेंगे ये अतिरिक्त जिम्मेदारी

मालूम हो कि पश्चिम बंगाल में आठ चरण में चुनाव हो रहे है. चुनाव आयोग (Election Commission) के अनुसार राज्य में चुनाव 27 मार्च से शुरू होकर 29 अप्रैल तक कुल आठ चरणों में पश्चिम बंगाल में संपन्न होगें और 2 मई को पश्चिम बंगाल समेत पांच राज्यों (केरल, तमिलनाडु, असम, पुडुचेरी) के चुनावी नतीजे आएंगे. Also Read - देवेंद्र फडणवीस ने कहा- मैने बीजेपी नेतृत्व को शिंदे को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाने का प्रस्ताव दिया था

(इनपुट-भाषा)