कोलकाता: निर्वाचन आयोग ने पश्चिम बंगाल की भवानीपुर सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार प्रियंका टिबरीवाल को चुनाव आचार संहिता उल्लंघन को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी किया है. तृणमूल कांग्रेस ने शिकायत की थी कि टिबरीवाल ने अपना नामांकन पत्र दाखिल करते समय बड़ी संख्या में समर्थकों को इकट्ठा करके चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन किया है. इसके बाद आयोग ने यह कदम उठाया. इस सीट पर उपचुनाव 30 सितंबर को होंगे और परिणाम की घोषणा तीन अक्टूबर को की जायेगी. इस उपचुनाव को जीतना ममता बनर्जी के लिए ज़रूरी है, वरना वह सीएम पद के लिए योग्य नहीं रह जाएँगी. उन्हें पद छोड़ना पड़ सकता है.Also Read - सम्बन्ध खराब थे, फिर भी TMC में सम्मान मिला, ममता दीदी का आभारी हूं: बाबुल सुप्रियो

इस नोटिस को लेकर प्रियंका टिबरीवाल ने कहा, ‘‘लेकिन, मैं यह बताना चाहूंगी कि शुभेंदु अधिकारी के अलावा उस वाहन में कोई नहीं था जिसमें मैं अपना नामांकन पत्र दाखिल करने गयी थी. मैंने किसी भीड़ का नेतृत्व नहीं किया था. यह देखना मेरा काम नहीं है कि बाइक और चौपहिया वाहनों पर सड़कों पर कौन चल रहा था. यह पुलिस और स्थानीय प्रशासन का काम है.’’ Also Read - सुवेंदु अधिकारी बोले- बाबुल सुप्रियो को संसद से तुरंत इस्‍तीफा देना चाहिए, TMC भेज सकती है राज्‍यसभा

अपनी शिकायत में तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया कि टिबरीवाल ने बिना किसी अनुमति के भीड़ को इकट्ठा करके आदर्श आचार संहिता और कोविड ​​से संबंधित दिशानिर्देशों का उल्लंघन किया है. तृणमूल कांग्रेस ने दावा किया कि उन्होंने अपना नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए जाते समय रास्ते में ‘धुनुची नृत्य’ (आमतौर पर दुर्गा पूजा के दौरान किया जाने वाला पारंपरिक बंगाली नृत्य) भी किया. Also Read - Time Magazine की 100 'सबसे प्रभावशाली लोगों' की सूची में PM मोदी, ममता बनर्जी और अदार पूनावाला भी शामिल

निर्वाचन अधिकारी द्वारा जारी नोटिस में भवानीपुर थाने के प्रभारी अधिकारी द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट का भी उल्लेख किया गया है, जिसमें उन्होंने शंभूनाथ पंडित स्ट्रीट और अन्य स्थानों पर भाजपा समर्थकों की एक बड़ी सभा के बाद यातायात जाम होने का उल्लेख किया था.

हालांकि टिबरीवाल ने इन आरोपों को खारिज किया है. उन्होंने दावा किया कि तृणमूल कांग्रेस उनके 30 सितंबर को होने वाला उपचुनाव लड़ने से भयभीत है और उन्हें चुनाव प्रचार से रोकने के लिए निर्वाचन आयोग में इस तरह की शिकायत दर्ज कराई गई है. उन्होंने कहा, ‘‘तृणमूल कांग्रेस की उस शिकायत के बाद निर्वाचन आयोग ने मुझे एक पत्र भेजा है जिसमें आरोप लगाया गया है कि जब मैं अपना नामांकन दाखिल करने गई थी तो मैंने बड़ी संख्या में लोगों को एकत्र किया और इस तरह आदर्श आचार संहिता के साथ-साथ कोविड​​-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया. मैं उसका जवाब दूंगी.’’

भवानीपुर विधानसभा सीट से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तृणमूल कांग्रेस की उम्मीदवार हैं जबकि भाजपा से टिबरीवाल और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) की ओर से श्रीजीब विश्वास चुनाव मैदान में है.