कोलकाता : भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा अपने बर्दवान दौरे के दौरान घर-घर एक मुठ्ठी चावल मांगते हुए नजर आने वाले हैं. दरअसल नौ जनवरी को बर्दवान दौरे पर जेपी नड्डा आएंगे. इस दौरान वह घर-घर जाकर एक मुट्ठी चावल मांगेंगे. बीजेपी सरकार के इस अभियान को नड्डा लॉन्च करेंगे, जिसके तहत भाजपा नेता व कार्यकर्ता घर-घर जाकर एक मुट्ठी चावल या सब्जी मांगेंगे.Also Read - विपक्षी दलों ने संविधान और बाबासाहेब का अपमान किया है, जनता इनको माफ नहीं करेगी: जेपी नड्डा

भाजपा के अनुसार इस अभियान का मकसद जनता से पार्टी को जोड़ना है. कृषकों से लेकर आदिवासी या कलाकारों के घर जाकर भोजन करने की परंपरा भाजपा नेताओं की पहले से ही रही है. वहीं अब जनसंपर्क अभियान के तहत लोगों से चावल/दाल मांगा जायेगा ताकि लोगों को पार्टी से जोड़ा जा सके. Also Read - UP Polls 2022: यूपी फतह के लिए BJP की खास रणनीति, जेपी नड्डा, अमित शाह और राजनाथ सिंह को मिली यह जिम्मेदारी

बर्दवान में बालुरघाट के सांसद डा. सुकांत मजुमदार तथा भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष राजू बनर्जी ने संवाददाता सम्मेलन करके आरोप लगाया कि बर्दवान में नड्डा के रोड शो का स्टार्टिंग प्वाइंट पुलिस की वजह से बदलना पड़ा. राजू बनर्जी का कहना है कि पुलिस वहां सुरक्षा नहीं प्रदान कर सकते. मजबूरन उन्हें प्रारंभिक स्‍थान बदलना पड़ा. Also Read - लाल कृष्ण आडवाणी के घर पहुंचे PM मोदी, उपराराष्‍ट्रपति, मंत्री राजनाथ सिंह, अमित शाह और जेपी नड्डा, दी जन्‍मदिन की बधाई

नड्डा शनिवार को पूर्व बर्दवान के दाईहाट में सभा करेंगे. करीब के जगदानंदपुर गांव के पांच कृषक परिवार के घर श्री नड्डा जायेंगे. वहां वह हर किसान के घर से एक-एक मुट्ठी चावल लेंगे. बाद में एक कृषक परिवार के घर वह दोपहर का भोजन करेंगे. भाजपा के कटवा सांगठनिक जिले के अध्यक्ष कृष्ण घोष ने बताया कि, एक मुट्ठी चावल, का अभियान शुरू होने के बाद यह आगे भी चलता रहेगा. प्राप्त सामग्री को जमा करके गांव-गांव में भोज का आयोजन किया जायेगा. भाजपा जनवरी महीने को कृषक सुरक्षा के रूप में मनाने जा रही है. उसका लक्ष्य बंगाल के 23 जिलों के 48 हजार गांवों में पहुंचना है. इसके जरिये वह 74 लाख किसानों से जुड़ेगी.

भाजपा के इस अभियान से तृणमूल नाराज

भाजपा द्वारा चलाए जाने वाले इस अभियान से तृणमूल नाराज है, तृणमूल कीनेता व राज्य की स्वास्थ्य राज्य मंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि क्या भाजपा किसानों का ध्यान रख रही है, उन्होंने दिल्ली को नहीं देखा है ? दिल्ली में इतनी ठंड में किसान प्रदर्शन कर रहे हैं, नड्डा जी उस पर क्या कहना चाहेंगे? अगर वो यहां आकर किसानों से बात करना चाहते हैं, तो कर सकते हैं क्योंकि बंगाल लोकतांत्रिक राज्य है.