West Bengal CM Mamata Banerjee, Sourav Ganguly Latest News: पश्चिम बंगाल (West Bengal) की CM ममता बनर्जी ने बीसीसीआई (BCCI) के अध्‍यक्ष सौरव गांगुली के जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की शुभकामना की है. वहीं, बीसीसीआई सचिव जय शाह ने सौरव गांगुली के स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर जानकारी ली है.Also Read - Amit Shah ने अगले विधानसभा चुनाव में राजस्थान में जीत का किया दावा तो कांग्रेस नेता ने कही यह बात

सीएम ममता बनर्जी ने ट्वीट किया, “यह सुनकर दुख हुआ कि सौरव गांगुली को हल्की कार्डियक अरेस्ट का सामना करना पड़ा और उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. ‘ उनके शीघ्र और पूरी तरह से स्वस्थ होने की कामना करती हूं.” Also Read - नागालैंड हिंसा: राहुल गांधी ने केंद्र को घेरा, कहा- सैनिक और आम लोग सुरक्षित नहीं, गृह मंत्रालय क्या कर रहा है?

Also Read - राजस्थान पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह, बोले- 'मोदी सरकार ने दिखाया कि भारत की सीमाओं, जवानों को कोई हल्के में नहीं ले सकता'

केंद्रीय मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह ने कहा, ” मैं सौरव गांगुली के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं और प्रार्थना करता हूं. मैंने उनके परिवार से बात की है. दादा की तबीयत स्थिर है और इलाज के लिए अच्छी प्रतिक्रिया दे रहे हैं.

बता दें कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली को सीने में दर्द की शिकायत के बाद शनिवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया. कोलकाता के वुडलैंड हॉस्‍पिटल के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.

गांगुली की हालत अब ‘स्थिर’ है और उन्हें निजी अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया है. 48 साल के सौरव गांगुली शुक्रवार शाम वर्कआउट सत्र के बाद उन्होंने सीने में दर्द की शिकायत दी और आज दोपहर दोबारा ऐसी समस्या के बाद परिवार के सदस्य उन्हें अस्पताल ले गए.

कोलकाता के वुडलैंड हॉस्‍पिटल के एक अधिकारी ने कहा, ”अब उनकी हालत स्थिर है. हम देख रहे हैं कि यह दर्द दिल से जुड़ी किसी समस्या के कारण है या नहीं. उनके कई परीक्षण होंगे.

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कयास लगाए जा रहे हैं कि सौरव गांगुली बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. दरअसल हाल ही में गांगुली ने राज्‍यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात की थी. बताया गया था कोलकाता के ईडन गार्डेन क्रिकेट मैदान के निरीक्षण को लेकर बीसीसीआई अध्‍यक्ष ने राज्‍यपाल को निमंत्रण दिया था, लेकिन सियासी हलकों में इसे राजनीति से लेकर कई नेताओं के बयान सामने आए.