West Bengal News: तृणमूल कांग्रेस को छोड़कर हाल ही में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हुए पश्चिम बंगाल के पूर्व मंत्री सुवेंदु अधिकारी ने शनिवार को कहा कि वह 21 साल तक तृणमूल कांग्रेस का हिस्सा बने रहने पर शर्म महसूस कर रहे हैं.Also Read - Constitution Day: संविधान दिवस आज, संसद में होने वाले समारोह का कांग्रेस ने किया बहिष्कार, जानें वजह

हेस्टिंग्स में भाजपा पार्टी कार्यालय में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए, अधिकारी ने कहा, “मुझे वास्तव में शर्म आती है कि मैं 21 साल तक उस राजनीतिक पार्टी (तृणमूल कांग्रेस) का हिस्सा था. यह बिल्कुल भी अनुशासन का पालन नहीं करती है. यह एक कंपनी की तरह हो गई है. हम उस कंपनी से बाहर आ गए और एक उचित राजनीतिक पार्टी में सदस्यता प्राप्त कर ली.” Also Read - Kolkata Nagar Nigam Election: कोलकाता स्थानीय निकाय चुनाव की घोषणा, BJP अदालत पहुंची

उन्होंने कहा कि दो दशकों से बंगाल ‘फॉर द पार्टी, बाय द पार्टी और ऑफ द पार्टी’ की संस्कृति का पालन कर रहा है. सुवेंदु ने कहा कि मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेतृत्व वाली वाम मोर्चा सरकार ने 34 साल तक ऐसा किया और उसके बाद ममता बनर्जी की अगुवाई वाली तृणमूल कांग्रेस ने इन्हीं कदम चिन्हों पर चलते हुए ऐसा ही किया. Also Read - Meghalaya के पूर्व मुख्यमंत्री Mukul Sangma समेत कांग्रेस के 12 विधायक ममता बनर्जी की पार्टी TMC में शामिल

प्रदेश के पूर्व मंत्री ने कहा, “केवल भाजपा बंगाल में ‘फॉर द पीपल, बाय द पीपल, ऑफ द पीपल’ संस्कृति स्थापित कर सकती है. अगर हम वास्तव में आर्थिक सुधार चाहते हैं और बंगाल में रोजगार के अवसर पैदा करना चाहते हैं, तो हमें भाजपा की ओर बढ़ना चाहिए, जो केंद्र में शासन कर रही है.”

उन्होंने कहा कि भगवा पार्टी को बंगाल में भी सत्ता में आना चाहिए. सुवेंदु ने राज्य में 135 भाजपा कार्यकर्ताओं की मौत का भी जिक्र किया. अधिकारी ने कहा कि पहले से ही भाजपा के राज्य इकाई के प्रमुख दिलीप घोष के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ताओं ने बंगाल में अपना आधार मजबूत कर लिया है.