कलकता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बीते कल कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल में पराक्रम दिवस के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंची थी. इस दौरान जब वह लोगों को संबोधित कर रही थीं तभी वहां ‘जय श्री राम’ के नारे लगने शुरू हो गए. इस दौरान उन्होंने जय श्री राम बोलने और भाषण देने से इनकार किया और इसका विरोध भी जताया. ममता बनर्जी द्वारा भाषण छोड़कर जाने के बाद सोशल मीडिया व राजनीतिक गलियारों में इसकी चर्चा तेज हो चुकी है.Also Read - Pariksha Pe Charcha 2022: परीक्षा पे चर्चा के लिये रजिस्‍ट्रेशन की आज आखिरी तारीख, जल्‍दी करें

इसी मामले पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस के परपोते व भाजपा नेता सीके बोस ने कहा कि जय श्री राम का नारा ऐसा नहीं है कि किसी को उसपर ऐसी प्रतिक्रिया नहीं देनी पड़े कि लगे उसे इससे एलर्जी है. बता दें कि 23 मार्च को नेताजी की 125वीं जयंती थी. इस दौरान पराक्रम दिवस कार्यकम का आयोजन कलकता के विक्टोरिया मेमोरियल में किया गया था. इसपर ममता बनर्जी के नारों पर सीके बोस ने कहा कि नेताजी एकता के लिए हमेशा खड़े रहे. Also Read - गणतंत्र दिवस Special-गाडिय़ों की झाँकी-Watch Video

उन्होंने कहा कि उनके द्वारा बनाए गए आजाद हिंद फौज में सभी समुदायों के लोग शामिल थे. आप जय श्री राम कहें या जय हिंद इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है. उन्होंने कहा कि मुजे लगता है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को जय श्री राम के नारे पर प्रतिकूल प्रतिक्रिया नहीं देनी चाहिए थी. यह दिन राजनीति करने का नहीं बल्कि जश्न मनाने का दिन है. Also Read - PM Narendra Modi ने क्रिस गेल-जोंटी रोड्स को भेजा खास संदेश, दी गणतंत्र दिवस की बधाई

बता दें कि जब विक्टोरिया मेमोरियल जय श्री राम के नारे से गूंजा, इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी कार्यक्रम में कुछ गरिमा होनी चाहिए, यह उस इंसान का अपमान करने जैसा है जिसे आपने आमंत्रित किया है. बता दें कि इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल थे. उन्हीं के अध्यक्षता में इस कार्यक्रम की शुरुआत की गई थी.