Subhash Chandra Bose: ‘देशनायक’ सुभाष चंद्र बोस को उनकी 125वीं जयंती के उपलक्ष्य में श्रद्धांजलि देते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि नेताजी एक सच्चे नायक थे और सभी लोगों की एकता में विश्वास रखते थे. मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा, “हम देशनायक दिवस के तौर पर इस दिन को मना रहे हैं. वह लोगों की अखंडता पर यकीन रखते थे.”Also Read - CDS Gen Bipin Rawat ही नहीं, हवाई हादसों में देश की इन बड़ी हस्तियों की भी गई है जान, ये हैं 7 बड़े नाम

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने राज्य भर में एक कमेटी का गठन किया है ताकि 23 जनवरी, 2022 तक इस दिन का जश्न मनाया जा सके. मुख्यमंत्री ने कहा, “राजारहाट में आजाद हिंद फौज के नाम से एक स्मारक का निर्माण किया जाएगा. नेताजी के नाम से एक विश्वविद्यालय की भी स्थापना की जाएगी, जो पूरी तरह से राज्य द्वारा वित्तपोषित होगा और विदेशी विश्वविद्यालयों संग इसका करार भी होगा.” Also Read - Tripura Civic Election Results: त्रिपुरा निकाय चुनाव में BJP चल रही आगे TMC पिछड़ी, LIVE Updates

ममता बनर्जी ने बताया कि आज के दिन एक भव्य पदयात्रा का आयोजन किया गया है. कोलकाता में इस साल गणतंत्र दिवस की परेड भी नेताजी को समर्पित की जाएगी. केंद्र से 23 जनवरी को राष्ट्रीय अवकाश घोषित किए जाने की मांग करते हुए ममता बनर्जी ने आगे कहा, “12.15 बजे एक साइरन बजेगी. लोगों से निवेदन है कि वे अपने-अपने घरों में इस वक्त शंख बजाए.” Also Read - करीना कपूर के बेटे जेह को क्या ममता बनर्जी ने अपनी गोद में उठाया? क्यों कह रहे हैं लोग ऐसा?