नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और मौजूदा बीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली को आज दोपहर दिल का दौरा पड़ने के बाद कोलकाता के वुडलैंड्स अस्पताल में भर्ती कराया गया . गांगुली की एंजियोप्लास्टी की गई है और इस समय उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी वुडलैंड्स अस्पता पहुंची और सौरव गांगुली की हेल्थ के बारे में डॉक्टरों से जानकारी ली.Also Read - कांग्रेस के लिए खतरे की घंटी! NCP प्रमुख शरद पवार से मुलाकात के बाद बोलीं ममता बनर्जी, 'अब कोई UPA नहीं'

इससे पहले सीएम ममता बनर्जी ने दादा के जल्दी स्वस्थ होने की कामना करते हुए ट्वीट भी किया. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा,‘‘ यह सुनकर दुख हुआ कि सौरव गांगुली को दिल का हलका दौरा पड़ा है और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करती हूं .’’ Also Read - SA vs IND: कोरोना के तीसरे वैरिएंट के बीच भारत का साउथ अफ्रीका दौरा, कप्तान ने जताया 'बायो-बबल' कदमों पर भरोसा

वुडलैंड्स अस्पताल के डॉक्टर सरोज मंडल ने बताया कि प्रारंभिक एंजियोप्लास्टी में धमनियों में आए अवरोध का उपचार किया जाता है जिससे ही हृदय की ओर जाने वाले रक्त के प्रवाह में सुधार हो. उनकी तीन धमनियों में अवरोध पाया गया जिसे हटाने के लिये स्टेंट दिया गया. उन्होंने बताया कि और स्टेंट देने के बारे में बाद में उनकी हालत देखकर फैसला लिया जायेगा. Also Read - IND vs SA- अभी बरकरार रखेंगे साउथ अफ्रीका दौरा, स्थगन का फैसला करने के लिए समय है: Sourav Ganguly

मंडल ने कहा ,‘‘ अगले कुछ दिन उनकी हालत पर कड़ी नजर रखी जायेगी . आगे क्या करना है, यह उनकी हालत देखकर ही तय होगा . उनके बाकी सभी अंग दुरूस्त हैं और उन्हें अगले तीन चार दिन अस्पताल में रहना होगा.’’

उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें एक्यूट मायोकार्डियल इनफारक्शन (एमआई) है लेकिन उनकी हालत स्थिर है. उनके दिल में तीन ब्लॉक पाये गए . उन्हें दोहरी एंटी प्लेटलेट्स और स्टेटिन दिया गया है.’’ मंडल ने कहा ,‘‘ उनकी प्रारंभिक एंजियेप्लास्टी हुई है और अब वह जाग चुके हैं. उनकी हालत स्थिर है. ’’

मायोकार्डियल इनफारक्शन (एमआई) को सामान्य भाषा में दिल का दौरा कहा जाता है जब दिल के किसी हिस्से में रक्त प्रवाह कम हो जाता है या रुक जाता है. इससे दिल की मांसपेशियों को नुकसान पहुंचता है. इससे पहले डाक्टर ने बताया था कि गांगुली ने अपने घर में बने जिम में ट्रेडमिल पर वर्कआउट करते हुए सीने में असहजता महसूस की थी.

अस्पताल के डॉक्टरों ने कहा कि गांगुली के परिवार में ‘इसकैमिक हार्ट डिजीज’ को इतिहास रहा है. इस बीमारी में सीने में दर्द या असहजता पैदा होती है जो हृदय के किसी हिस्से में पर्याप्त रक्त नहीं मिलने के कारण होता है. ऐसा अधिकतर उत्साह या उत्तेजना के दौरान होता है जब हृदय के रक्त के अधिक प्रवाह की जरूरत होती है. अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि उनके उपचार पर नजर रखने के लिए पांच डॉक्टरों की टीम का गठन किया गया है.

अस्पताल द्वारा जारी बयान में कहा गया ,‘‘ जब उन्हें दोपहर को अस्पताल लाया गया तो उनके क्लीनिकल पैरामीटर सामान्य सीमा के भीतर थे. ईसीजी और इको भी किया गया. वह उपचार पर अच्छी प्रतिक्रिया दे रहे हैं.’’