कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि भारत जैसे बड़े देश के लिए 4 राष्ट्रीय राजधानी होनी चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल राज्य की राजधानी कोलकाता को वैकल्पिक राष्ट्रीय राजधानी बनाया जाना चाहिए.Also Read - IND vs SA 1st ODI: भारत के खिलाफ वनडे सीरीज नहीं खेलेंगे Kagiso Rabada, जानिए क्या है वजह

इससे पहले प श्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए शनिवार को यहां एक भव्य जुलूस की शुरुआत की. इस दौरान उन्होंने एक और बयान देते हुए कहा की संसद के चारों सत्र को देश के अलग-अलग जगहों पर आयोजित किया जाना चाहिए. Also Read - Cryptocurrency: सिंगापुर ने भी क्रिप्टो प्लेयर्स को विज्ञापनों के माध्यम से जनता को नहीं लुभाने की दी चेतावनी

‘देशनायक’ सुभाष चंद्र बोस को उनकी 125वीं जयंती के उपलक्ष्य में श्रद्धांजलि देते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि नेताजी एक सच्चे नायक थे और सभी लोगों की एकता में विश्वास रखते थे. मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा, “हम देश नायक दिवस दिबस के तौर पर इस दिन को मना रहे हैं. वह लोगों की अखंडता पर यकीन रखते थे.” Also Read - UP Assembly Election 2022: सपा चाहती है ममता बनर्जी उनके लिए करें प्रचार, पार्टी के नेता TMC प्रमुख से आज करेंगे मुलाकात

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने राज्य भर में एक कमेटी का गठन किया है ताकि 23 जनवरी, 2022 तक इस दिन का जश्न मनाया जा सके. मुख्यमंत्री ने कहा, “राजारहाट में आजाद हिंद फौज के नाम से एक स्मारक का निर्माण किया जाएगा. नेताजी के नाम से एक विश्वविद्यालय की भी स्थापना की जाएगी, जो पूरी तरह से राज्य द्वारा वित्तपोषित होगा और विदेशी विश्वविद्यालयों संग इसका करार भी होगा.”