WB Assembly Election 2021: विधानसभा चुनाव को लेकर मिशन बंगाल पर निकले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) दो दिवसीय पश्चिम बंगाल (West Bengal) दौरे पर हैं. कल उन्होंने जहां प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) पर जोरदार हमला बोला, तो वहीं आज वे बोलपुर में एक बड़ा रोड शो भी करने वाले हैं. इसे बंगाल में भाजपा के शक्ति प्रदर्शन के तौर पर देखा जा रहा है. अपने बंगाल दौरे के पहले दिन अमित शाह (Amit Shah) ने शनिवार को धमाकेदार एंट्री की. Also Read - 'बंगाल को गुजरात नहीं बनने देंगे', ममता बनर्जी बोलीं- जो लोग TMC छोड़ना चाहते हैं, जितना जल्दी हो सके छोड़ दें

अमित शाह का आज का कार्यक्रम Also Read - 'जय श्री राम' के नारे पर Nusrat Jahan ने दिखाए तीखे तेवर, बोलीं- 'राम का नाम गले लगाके...'

आज अमित शाह अपने बंगाल मिशन की शुरुआत 11 बजे विश्व भारती विश्वविद्यालय, शांति निकेतन से करेंगे, वहां वे शांति निकेतन के रवींद्र भवन में गुरु रवींद्रनाथ टैगोर को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे. इसके बाद वे विश्वविद्यालय के संगीत भवन जाएंगे और दोपहर 12 बजे यहां के बांग्लादेश भवन सभागार में संबोधन देंगे. बांग्लादेश भवन सभागार में कार्यक्रम खत्म होने के बाद वह बीरभूम के लिए रवाना हो जाएंगे. Also Read - West Bengal: PM मोदी के पहुंचने से पहले बवाल, हावड़ा में BJP कार्यर्ताओं पर हमला, TMC वर्कर्स पर आरोप

शनिवार को बड़े घटनाक्रमों से भरी रही पश्चिम बंगाल की सियासत

शनिवार यानि 19 दिसंबर का दिन बंगाल में बड़े सियासी घटनाक्रमों से भरा रहा, गृह मंत्री अमित शाह ने एक किसान के घर खाना खाया. उसके बाद मिदनापुर में एक विशाल रैली को संबोधित किया. रैली में टीएमसी विधायक रहे शुभेंदु अधिकारी सहित कई नेताओं ने भाजपा का दामन थामा. कल रैली को संबोधित करते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने ये तक कह दिया था कि बंगाल में परिवर्तन की लहर है और चुनाव आते आते ममता बनर्जी अकेली रह जाएंगी.

1998 के बाद ममता की पार्टी में बड़ी फूट 

अमित शाह के पश्चिम बंगाल दौरे से वहां की राजनीति में बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है. साल 1998 में पार्टी की स्थापना के बाद ये पहली बार है जब टीएमसी (TMC) में ऐसी फूट पड़ी और पार्टी इतनी तेजी से बिखरी है. तृणमूल कांग्रेस के प्रभावशाली नेता और बंगाल सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) कल अपने हजारों समर्थकों के साथ अमित शाह की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हो गए. शुवेंदु का जाना टीएमसी के लिए बड़ा झटका है क्योंकि वो बंगाल में पार्टी के बड़े चेहरे के तौर पर माने जाते रहे हैं.