WB Assembly Election: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 में होने वाले हैं लेकिन उससे पहले बंगाल की राजनीति में खूब राजनीतिक जोर आजमाईश देखने को मिल रही है. ममता बनर्जी सरकार से परिवहन मंत्री के पद से इस्तीफा दे चुके शुभेंदु अधिकारी का अगला दाव क्या होगा यह कोई नहीं जानता है लेकिन उनके एक्शन और केंद्र सरकार द्वारा उनको मिल रहे समर्थन से ऐसा लगने लगा है मानों शुभेंदु भाजपा का दामन जल्द ही पकड़ेंगे. Also Read - सुभाषचंद्र बोस के धर्मनिरपेक्ष विचारों के खिलाफ थे RSS के लोग, BJP को जयंती मनाने का अधिकार नहीं: कांग्रेस

बता दें कि शुभेंदु टीएमसी व ममता बनर्जी से अपनी नाराजगी को साफ जाहिर कर चुके हैं. कई मौकों पर उन्होंने इसकी खुलकर आलोचना भी की. इस बीच केंद्र सरकार द्वारा शुभेंदु अधिकारी को सुरक्षा को बढ़ाते हुए उन्हें Z श्रेणी की सुरक्षा दी गई है क्योंकि शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि है कि हाल ही के कुछ दिनों में उनके उपर कुल 11 बार हमले किए जा चुके हैं. इस बात का जिक्र उन्होंने मेदिनीपुर की रैली में की थी. Also Read - 'जय श्री राम' के नारे पर Nusrat Jahan ने दिखाए तीखे तेवर, बोलीं- 'राम का नाम गले लगाके...'

बता दें कि शुभेंदु का यह बयान तब आया है जब उन्हें केंद्र सरकार की तरफ से Z कैटेगरी की सुरक्षा मुहैया कराई गई है. केंद्रीय गृह मंत्रालय को मिली खूफिया रिपोर्ट के मुताबिक शुभेंदु अधिकारी पर खतरे की संभावना थी इस कारण उन्हें यह सुरक्षा मुहैया कराई गई है. Also Read - भाजपा सांसद साक्षी महाराज का विवादित बयान, बोले- नेताजी को कांग्रेस ने मरवाया

मेदिनीपुर की ही रैली में शुभेंदु ने कहा कि अपने आलोचकों से मैं कहना चाहूंगा कि मेरे साथ लोग खड़े हैं ये मेरा परिवार है और इनसे मेरा जुड़ाव है. वो जनता के साथ हमेशा खड़े रहेंगे. उन्होंने कहा कि मेरे परिवार में पूरा बंगाल और पूरे गांव आते हैं केवल 5-7 लोग नहीं. शुभेंदु ने कहा कि उनके उपर हो रहे हमलों से वे डरने वाले नहीं हैं.