West Bengal Assembly Polls 2021: पश्चिम बंगाल में पेट्रोल पंप परिसरों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की तस्वीरों वाले होर्डिंग हटाए जाएंगे. चुनाव आयोग (Election Commission) ने पश्चिम बंगाल के सभी पेट्रोल पंप डीलरों को निर्देश दिया है कि वे 72 घंटों के भीतर अपने परिसर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर वाले सभी विज्ञापनों के होर्डिंग्स को हटा दें. एक अधिकारी ने कोलकाता में यह जानकारी दी. पश्चिम बंगाल में मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा कि ऐसे होर्डिंग में प्रधानमंत्री की तस्वीर का इस्तेमाल करना आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है. Also Read - Covid-19 पर सियासी जंग: केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने पूर्व पीएम मनमोहन पर किया पलटवार, पत्र ट्वीट कर कसा ये तंज

इससे पहले दिन में तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने निर्वाचन आयोग के अधिकारियों से मुलाकात की और आरोप लगाया कि लोगों को केंद्रीय योजनाओं की जानकारी देने के लिए लगाए गए होर्डिंग में प्रधानमंत्री की तस्वीर का उपयोग करना आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है. चुनाव आयोग द्वारा 26 फरवरी को राज्य में विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू है. Also Read - ममता बनर्जी ने कहा- कोरोना न रोक पाने की जिम्मेदारी लेकर इस्तीफा दें पीएम मोदी, संकट देखते हुए भी कुछ नहीं किया

टीएमसी ने की थी शिकायत
इससे पहले तृणमूल कांग्रेस नेताओं के चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात की थी और आरोप लगाया था कि स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा वितरित कोविड टीकाकरण प्रमाणपत्रों और विभिन्न केंद्रीय योजनाओं के विज्ञापनों पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है. Also Read - जब ऑक्सीजन टैंकर की पूजा करने में लग गए बीजेपी नेता और मंत्री, कांग्रेस ने बोला हमला

राज्य के मंत्री फरहाद हाकिम ने चुनाव आयोग के अधिकारियों से बैठक के बाद कहा था कि तृणमूल कांग्रेस ने इसे ‘सरकारी मशीनरी का जबरदस्त दुरुपयोग’ बताया है और पेट्रोल पंपों पर लगी केंद्र सरकार की योजनाओं के विज्ञापन वाली होर्डिंग्स को हटाने के लिए चुनाव आयोग से हस्तक्षेप करने की मांग की है.

उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस विधानसभा चुनाव में भाजपा के स्टार प्रचारक रहने वाले हैं. एक राजनेता के रूप में, वह रैलियों के दौरान अपनी पार्टी के लिए समर्थन मांग रहे हैं. इस स्थिति में, टीकाकरण प्रमाणपत्रों में उनकी तस्वीर का इस्तेमाल मतदाताओं को प्रभावित करने और आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने जैसा है.’ हाकिम ने कहा, ‘हमने पेट्रोल पंपों पर केंद्रीय योजनाओं के विज्ञापन वाली होर्डिंग्स में उनकी (मोदी) तस्वीर हटाने के लिए चुनाव आयोग के हस्तक्षेप की मांग की है.’

(इनपुट: भाषा)