West Bengal Assembly Election 2021, निर्वाचन आयोग ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण शुक्रवार से शाम सात बजे से सुबह दस बजे तक पश्चिम बंगाल में रैलियों, जनसभाओं पर प्रतिबंध लगा दिया है. अब बंगाल में शाम 7 बजे से सुबह 10 बजे तक कोई चुनाव प्रचार नहीं होगा. इसके अलावा आयोग ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के शेष तीन चरणों के लिए मतदान से पूर्व चुनाव प्रचार समाप्त होने की अवधि 48 घंटे से बढ़ाकर 72 घंटे कर दी है. Also Read - 12 राज्यों में 1 लाख से भी ज्यादा एक्टिव केस, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- 9 राज्यों में तेजी से बढ़ रहा कोरोना

राज्य में विधानसभा चुनाव आठ चरणों में होने थे, इनमें से चार चरणों के लिए मतदान संपन्न हो गया है और पांचवें चरण के लिए मतदान कल 17 अप्रैल को है. आयोग द्वारा लगायी गई नयी बंदिशें अंतिम तीन चरणों (22, 26 और 29 अप्रैल) के लिए हैं. बता दें कि पश्चिम बंगाल में बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस के 6769 मामले सामने आए और कम से कम 22 लोगों की संक्रमण से मौत हो गई. Also Read - West Bengal Violence: पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा का जायजा ले रही MHA की टीम राजभवन पहुंची

राज्य में विधानसभा चुनाव आठ चरणों में होने हैं जिसमें से चार चरणों का मतदान पूरा हो चुका है. बाकी के चार चरणों के लिए मतदान 17 से 29 अप्रैल के बीच होना है. चुनाव आयोग का ये फैसला ऐसे समय में आया है जब मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने बृहस्पतिवार को निर्वाचन आयोग से अनुरोध किया था कि वह बाकी बची सीटों पर एक ही चरण में मतदान करवाने पर विचार करे. Also Read - Train यात्र‍ियों के लिए इस राज्‍य ने जारी की एडवाइजरी, रेलवे ने कहा- RT-PCR टेस्‍ट की निगेटिव रिपोर्ट साथ लेकर करें यात्रा

इससे पहले पश्चिम बंगाल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी आरिज आफताब ने कोलकाता उच्च न्यायालय के निर्देश पर सर्वदलीय बैठक बुलायी थी. अदालत ने आफताब और सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया था कि वे चुनाव के बचे हुए चरणों में कोविड-19 प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करें.