कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 में ममता बनर्जी को नंदीग्राम सीट से हार का सामना करना पड़ा था. जिसके बा से चुनाव आयोग पर टीएमसी द्वारा उपचुनाव कराए जाने को लेकर लगातार दबाव बनाना शुरू कर दिया गया था. हालांकि जल्द ही चुनाव कराने की मांग पर टीएमसी का प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग से मुलाकात करेगा. इस बीच सत्तारुढ़ तृणमूल कांग्रेस ने भवानीपुर सीटपर अपनी पार्टी सुप्रीमों व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के चुनाव लड़ने की तैयारियों को शुरू कर दी है.Also Read - बंगाल में ममता बनर्जी के सामने क्यों हारी BJP, पार्टी छोड़ TMC में गए बाबुल सुप्रियो ने बताया

बता दें कि उपचुनाव को लेकर टीएमसी द्वारा नया नारा भी दिया गया है. टीएमसी के नए नारे के मुताबिक ममता बनर्जी को भवानीपुर की बेटी बताया या है और इसका नाम उन्नयन घेरे घेरे, घरेर मेये भवानीपुर ( यानी हर घर में विकास, भवानीपुर की बेटी) नारा दिया दिया गया है. Also Read - Bengal BJP Crisis: भाजपा विधायक कृष्ण कल्याणी हुए बागी, बाबुल सुप्रियो आज ममता बनर्जी से करेंगे मुलाकात

हाल ही में संपन्न हुए बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमस द्वारा बांग्ला निजेर मेये के चाय (बंगाल अपनी बेटी को चाहता है) नारा दिया गया था. बता दें कि विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी को जीत मिली थी लेकिन ममता बनर्जी को हार का सामना करना पड़ा था. विधानसभा चुनाव के तर्ज पर ही टीएमसी द्वारा भवानीपुर सीट के लिए नया नारा भवानीपुर को ध्यान में रखते हुए दिया गया है. Also Read - West Bengal: राज्यसभा उपचुनाव में भाजपा नहीं उतारेगी उम्मीदवार, सुष्मिता देव के निर्विरोध चुने जाने की संभावना

शोभनदेव ने दिया इस्तीफा

बता दें कि एक तरफ जहां भवानीपुर विधानसभा सीट से ममता बनर्जी के चुनाव लड़ने की तैयारियां तेज हैं. वहीं दूसरी तरफ इस सीट से इस बार के तृणमूल कांगेस के वरिष्ठ नेता और राज्य के मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्यान ने ममता बनर्जी के लिए इस सीट से इस्तीफा दे दिया था. बता दें कि ममता बनर्जी के मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए 4 नवंबर से पहले उपचुनाव में जीतकर विधानसभा का सदस्य बनना अनिवार्य है. वरना दीदी को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना होगा.