West Bengal Lockdown Update: देश में कोरोना की दूसरी लहर का कहर धीरे-धीरे कम हुआ है, हालांकि कुछ राज्यों में बढ़ते मामलों ने केंद्र सरकार की टेंशन बढ़ा दी है. संभावित तीसरी लहर की आशंका के बीच कई राज्यों में ऐहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं. इन सबसे बीच बंगाल की ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) सरकार ने राज्य में लगी कोरोना पाबंदियाों को 15 सितंबर तक के लिए बढ़ा दिया है. इसके साथ-साथ रात 11 बजे से सुबह 5 बजे नाइट कर्फ्यू (Night curfew) भी लागू रहेगा.Also Read - इस राज्य में टीके की पहली खुराक ले चुके लोग दूसरी खुराक लेने के लिए नहीं आ रहे, अधिकारी परेशान

मालूम हो कि बंगाल में कोरोना संक्रमितों का कुल आंकड़ा बढ़कर 15,46,237 हो गया है, जबकि 18,410 लोगों की अब तक जान जा चुकी है. राज्य में फिलहाल 9,143 एक्टिव मामले हैं और 15,18,684 लोगों ने अब तक कोरोना से जंग जीती है. Also Read - Third Wave News: दूसरी की तरह क्या कोरोना की तीसरी लहर भी होगी भयावह? शीर्ष वायरस विज्ञानी ने दी अहम जानकारी

Also Read - Coronavirus cases In India: 1 दिन में 34 हजार से अधिक लोग हुए संक्रमित, वर्तमान में इतने हैं एक्टिव मामले

वहीं, केंद्र ने शनिवार को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि आगामी त्योहारी सीजन के दौरान कोई बड़ी भीड़ एकत्र न हो. साथ-साथ कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए सक्रियता से कदम उठाने को भी कहा है.

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने जारी कोविड-19 दिशा-निर्देशों को एक और महीने के लिए 30 सितंबर तक बढ़ाते हुए कहा कि कुछ राज्यों में दिख रहे स्थानीय प्रसार को छोड़कर, वैश्विक महामारी की समूची स्थिति अब राष्ट्रीय स्तर पर काफी हद तक स्थिर दिखती है. उन्होंने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखे गए एक जैसे पत्रों में कहा कि कुछ जिलों में उपचाराधीन मरीजों की संख्या और उच्च संक्रमण दर चिंता का विषय बनी हुई है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार सुबह आठे बजे तक अद्यतन किए गए आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में देश में 46,759 लोगों में कोविड-19 की पुष्टि हुई है.पत्र में उन्होंने कहा, ‘संबंधित राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासनों को, अपने जिलों में उच्च संक्रमण दर को देखते हुए, सक्रिय रूप से रोकथाम के उपाय करने चाहिए ताकि मामलों में वृद्धि को प्रभावी ढंग से रोका जा सके और प्रसार को रोका जा सके.

(इनपुट: ANI,भाषा)