West Bengal Violence, MHA, Kolkata, West Bengal governor, West Bengal, News : पश्चिम बंगाल (West Bengal) में चुनाव के बाद हुई हिंसा (post-poll violence) की घटनाओं की तथ्यान्वेण और जमीनी हालात का आंकलन करने के लिए गुरुवार को कुछ हिंसा प्रभावित जिलों की स्थिति का जायजा लिया इसके बाद दूसरे दिन आज शुक्रवार को कोलकाता में राजभवन में राज्‍यपाल से मुलाकात की है. बता दें कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के मुता‍बिक, राज्य के विभिन्न हिस्सों में चुनाव बाद हिंसा में 16 लोगों की मौत हो गई है. Also Read - कोरोना वायरस: PM मोदी ने कहा- राज्यों को अतिरिक्त कर्ज लेने की अनुमति देंगे, हमने ज़रूरत के हिसाब के आर्थिक उपाय किए

केंद्रीय गृह मंत्रालय की चार सदस्यीय तथ्यान्वेषी टीम बृहस्पतिवार को पश्चिम बंगाल पहुंची. इस टीम को राज्य में विधानसभा चुनाव के बाद हुई हिंसा के कारणों की जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है. टीम ने टीम ने जमीनी हालात का आकलन करने के लिए दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना में कुछ स्थानों का दौरा किया है. इसके बाद आज शुक्रवार को 4 सदस्‍यीय टीम ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात की है. इससे एक दिन पहले टीम ने राज्य सचिवालय का दौरा किया था और मुख्य सचिव, गृह सचिव तथा पुलिस महानिदेशक से मुलाकात की. आज शुक्रवार को टीम के दौरे का दूसरा दिन है. Also Read - चिराग पासवान ने कहा- BJP की चुप्पी से आहत हूं, उनसे रिश्ते 'एकतरफा' नहीं रह सकते

सूत्रों ने बताया कि टीम के सदस्यों ने राज्य सरकार के शीर्ष अधिकारियों और प्रभावित परिवारों से मुलाकात की. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि राज्य के विभिन्न हिस्सों में चुनाव बाद हिंसा में 16 लोगों की मौत हो गई है. बीजेपी ने आरोप लगाया है कि टीएमसी समर्थित गुंडों ने उसके कई कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी, महिला सदस्यों पर हमला किया और घरों में तोड़फोड़ की तथा दुकानों में लूटपाट की.

अधिकारियों ने बताया कि गृह मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव की अगुवाई में, टीम ने राज्य सचिवालय का दौरा किया और मुख्य सचिव, गृह सचिव तथा पुलिस महानिदेशक से मुलाकात की. उन्होंने बताया कि टीम ने जमीनी हालात का आकलन करने के लिए दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना में कुछ स्थानों का दौरा किया.

दक्षिण 24 परगना के सोनारपुर में टीम के सदस्यों ने हिंसा में मारे गए हरन अधिकारी के परिवार से मुलाकात की. अधिकारियों ने कहा था कि आज शुक्रवार को टीम राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात करेगी और चुनाव बाद की हिंसा पर एक रिपोर्ट देने के लिए कहेगी.