बैंकॉक: थाईलैंड में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. यहां पर रेप पीड़िता की फेसबुक पर लिखी पोस्ट शेयर करना 12 लोगों को भारी पड़ गया. दरअसल थाईलैंड में ब्रिटेन की एक पर्यटक द्वारा बलात्कार के आरोपों संबंधी उसके फेसबुक पोस्ट को साझा करने वाले 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. ब्रिटिश पर्यटक ने दावा किया कि जब वह अपने साथ हुए अपराध की शिकायत दर्ज कराने गई तो पुलिस ने इससे इनकार कर दिया.

गिरफ्तार किये गए लोगों के अधिवक्ता विन्यत चटमोंट्री ने गुरुवार को कहा कि इन्हें कम्प्यूटर अपराध कानून का उल्लंघन करने के लिए इस सप्ताह अलग-अलग प्रांतों में गिरफ्तार किया गया. उन्हें झूठी सूचना फैलाने और राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान पहुंचाने के लिए पांच साल की जेल हो सकती है और उन पर जुर्माना भी लगाया जा सकता है. पुलिस ने ब्रिटिश महिला के दावे को खारिज करते हुए कहा कि उनकी जांच में पता चला कि जून में कोह ताओ द्वीप पर बलात्कार का उसका दावा झूठा निकला.

पाकिस्तानी झंडा लगा टोपी पहन भारतीय गाना गा रही थी लड़की, सैलरी पर लगी रोक

ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाने के बाद की दरिदंगी
इंग्लैंड लौट चुकी 19 वर्षीय महिला ने पत्रकारों को बताया कि उसका मानना है कि किसी ने उसकी ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया था और जब उसकी आंखे खुली तो वह एक बीच पर थी और उससे बलात्कार और लूटपाट हुई थी. विन्यत ने कहा कि इन लोगों ने बस एक फेसबुक पोस्ट साझा किया. उनकी झूठी अफवाहें फैलाने या देश को नुकसान पहुंचाने की कोई मंशा नहीं थी. मैं बता सकता हूं कि पुलिस ने लोगों को इस मामले पर खबरें साझा करने से रोकने के लिए जल्दबाजी में ये गिरफ्तारियां की. पुलिस इस मामले को पर्यटन उद्योग के लिए बुरा मानती है. पुलिस ने बताया कि विदेश में रह रहे दो संदिग्धों के लिए भी गिरफ्तारी वारंट निकाले गए हैं. (इनपुट एजेंसी)