दुबई: चार वर्ष पहले महज नौ साल की उम्र में अपनी पहली मोबाइल एप्लिकेशन बनाने वाला एक भारतीय किशोर 13 साल की उम्र में दुबई में एक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट कंपनी का मालिक बन गया है. उसकी कंपनी में कुल तीन कर्मचारी हैं, जो उसके स्कूल के दोस्त और छात्र हैं. एक मीडिया रिपोर्ट में रविवार को यह जानकारी दी गई है. केरल के छात्र आदित्य राजेश ने केवल नौ वर्ष की उम्र में ही अपनी पहली मोबाइल एप्लिकेशन बना ली थी. वह लोगों के लिए वेबसाइट भी बना रहा है.

खलीज टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, मात्र पांच साल की उम्र में कंप्यूटर का उपयोग शुरू करने वाले तकनीक के इस जादूगर ने अंतत: 13 साल की उम्र में अपनी कंपनी ‘ट्रिनेट सॉल्यूशंस’ की शुरुआत की है.

आदित्य ने दुबई के अंग्रेजी दैनिक को बताया, ” मेरा जन्म केरल के थिरूविला में हुआ था और जब मैं पांच साल का था तो मेरा परिवार यहां आ गया. पहली बार मेरे पिता ने मुझे बीबीसी टाइपिंग दिखाई थी. यह बच्चों के लिए एक वेबसाइट है, जहां छोटी उम्र के छात्र टाइपिंग सीख सकते हैं. ट्रिनेट के कुल तीन कर्मचारी हैं, जो आदित्य के स्कूल के मित्र और छात्र हैं.,