नई दिल्ली: भूकंप ने मेक्सिको को एक बार फिर झकझोर कर रख दिया है. शहर अपने पैरों पर एक बार खड़ा हुआ ही था कि इतिहास ने खुद को फिर दोहरा दिया. 1985 में आज ही दिन मेक्सिको के इतिहास का सबसे बड़ा भूकंप आया था. इसमें 5000 जानें चली गई थी. Also Read - Flood In Bihar: बिहार में बाढ़ की आशंका को लेकर अलर्ट, बचाव के लिए होगा ड्रोन का उपयोग

19 सितंबर, 1985 की तारीख थी, सुबह के सात बजकर 19 मिनट हो रहे थे. तभी 8.1 तीव्रता वाला एक भूकंप आया और मेक्सिको की राजधानी मेक्सिको सिटी बुरी तरह कांप उठी. Also Read - Vande Bharat: एयर-इंडिया की विमान पहुंची कर्नाटक, लंदन से रेसक्यू कर लाए गए 326 भारतीय

शहर का मुख्य इलाका पूरी तरह से तबाह हो गया था. सैंकड़ों इमारतें ढह गईं और हज़ारों लोग मारे गए थे. 32 साल बाद तारीख़ वही थी और मेक्सिको सिटी भूकंप से एक बार फिर कांप गई. 32 साल पहले उस हादसे में कितने लोग मारे गए थे, इसकी पक्की जानकारी आज तक नहीं मिल पाई है. इस हादसे को तीन दशक से भी ज्यादा समय बीत चुका है. Also Read - VIDEO: चट्टानों के बीच फंसा ELEPTHANT CALF, लेकिन हथिनी ने मचाई भगदड़

आज फिर भूकंप से कांपा मैक्सिको

बता दें कि मैक्सिको के मध्य में मंगलवार को 7.1 तीव्रता का भूकंप आया जिससे कम से कम 139 लोगों की मौत हो गई और कई इमारतें धराशायी हो गईं. भूकंप की वजह से दहशत में आए लोग सड़कों पर निकल आए. मलबे में फंसे लोगों को निकालने के लिए बचाव कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है. घनी आबादी वाली मैक्सिको सिटी और आसपास के राज्यों में भूकंप की वजह से देखते ही देखते कई इमारतें ध्वस्त हो गईं और हर ओर मलबा नजर आने लगा.