वॉशिंगटन: अमेरिका में डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन के समर्थकों ने प्रभावशाली भारतीय-अमेरिकियों तक अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए 14 भाषाओं में एक अभियान शुरू करने की गुरुवार को घोषणा की. अभी वह भारतीय-अमेरिकियों से संपर्क करने के लिए 14 से अधिक भाषाओं में हिंदी, पंजाबी, तमिल, तेलुगु, बंगाली, उर्दू, कन्नड़, मलयाली, उड़िया, मराठी और नेपाली शामिल हैं. Also Read - जो बाइडेन कट्टरपंथी वाम एजेंडे का पालन कर रहे हैं और वह ईश्वर के खिलाफ हैं: डोनाल्‍ड ट्रंप

बाइडेन के प्रचार अभियान ने ”अमेरिका का नेता कैसा हो, जो बाइडेन जैसा हो” चुनावी नारा तैयार किया है जो दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत के एक लोकप्रिय चुनावी नारे से लिया गया है. Also Read - दवाओं के लिए चीन, अन्य देशों पर निर्भरता खत्म करेगा अमेरिका: डोनाल्ड ट्रंप

विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी ने भारतीय भाषाओं में चुनावी नारा तब दिया है, जब चार साल पहले 2016 में ट्रंप के चुनावी नारे ”अब की ट्रंप सरकार” को काफी सफलता मिली थी, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2014 के चुनावी नारे ”अब की बार मोदी सरकार” की तर्ज पर बनाया गया था. Also Read - TikTok पर अमेरिका की बड़ी कार्रवाई, सरकारी उपकरणों में ऐप नहीं होगा इस्तेमाल, कंपनियां बंद करेंगी ट्रांजेक्शन

बाइडेन के चुनाव प्रचार के लिए राष्ट्रीय वित्त समिति के सदस्य अजय भुटोरिया ने कहा कि उनका प्रचार अभियान भारतीय-अमेरिकी मतदाताओं से उनकी ही भाषाओं में पहुंच बनाने की योजना बना रहा है.

अभी वह भारतीय-अमेरिकियों से 14 से अधिक भाषाओं में संवाद करने के लिए बाइडेन एशियन अमेरिकन एंड पैसिफिक आइलैंडर (एएपीआई) टीम के साथ समन्वय कर रहे हैं. इन भाषाओं में हिंदी, पंजाबी, तमिल, तेलुगु, बंगाली, उर्दू, कन्नड़, मलयाली, उड़िया, मराठी और नेपाली शामिल हैं.

भुटोरिया ने माना कि यह भारत से प्रेरित है जहां चुनाव आकर्षक नारों और लाउडस्पीकरों पर बॉलीवुड के बजते गानों के साथ होने वाली रैलियों के बीच सामुदायिक जश्न होते हैं.

”अमेरिका का नेता कैसा हो, जो बाइडेन जैसा हो” नारा देश में भारतीय-अमेरिकी मतदाताओं में वैसा ही जोश पैदा करने के लिए बनाया गया है. राष्ट्रपति पद के चुनाव तीन नवंबर को होने हैं. डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रत्याशी बाइडेन रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को चुनौती दे रहे हैं.