पेरिस: फ्रांस में कोरोना वायरस से और 240 लोगों की मौत हो गई जिससे देश में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,100 हो गई है. फ्रांस के शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी देते हुए पत्रकारों को बताया कि फ्रांस में 22,300 लोग इस वायरस से संक्रमित पाये गये है और इनमें से 10,176 लोग अस्पतालों में भर्ती हैं. Also Read - Corona Vaccination: अब 18 वर्ष से अधिक की आयु वालों को भी लगेगी वैक्सीन, कितना होगा खर्चा, कैसे लगवाएं टीका?

बता दें कि तेज़ी से फैल रहे कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए नेपाल में मंगलवार से हफ्तेभर का बंद (लॉकडाउन) शुरू हो गया. यह वायरस दुनिया भर में करीब 17000 लोगों की जान ले चुका है और इससे 3.8 लाख लोग संक्रमित हैं. पांबदियों के पहले दिन बाजार बंद थे और सड़कें सुनी पड़ी थी. सिर्फ सुरक्षा बलों और मेडिकल कर्मियों की गाड़ियां ही सड़क पर दिख रही थी. Also Read - VIDEO | कोरोना से बचाव के लिए हाथों को कितनी बार धोना है जरूरी? एक्सपर्ट से जानें यहां...

कोविड-19 की रोकथाम और नियंत्रण के लिए उप प्रधानमंत्री ईश्वर पोखरेल के नेतृत्व वाली उच्च स्तरीय समिति की बैठक में देशभर में बंद करने का निर्णय हुआ. यह बैठक काठमांडू में कोरोना वायरस के दूसरे मामले की पुष्टि होने के कुछ घंटों बाद हुई थी. Also Read - Summer Vacation Begins in Delhi Schools: दिल्ली के स्कूलों में अब इस दिन से गर्मी की छुट्टियां

वहीं दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अपने संबोधन में कहा कि आज (मंगलवार) रात 12 बजे से पूरे देश में पूर्ण लॉकडाउन होगा. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए यह जरूरी हो गया है. यह लॉकडाउन 21 दिन का होगा. हालांकि इस दौरान उन्होंने ये भी कहा कि “निश्चित तौर पर इस लॉकडाउन की एक आर्थिक कीमत देश को उठानी पड़ेगी. लेकिन एक-एक भारतीय के जीवन को बचाना इस समय मेरी, भारत सरकार की, देश की हर राज्य सरकार की, हर स्थानीय निकाय की, सबसे बड़ी प्राथमिकता है.”