नई दिल्लीः कोरोना वायरस से चीन बुरी तरह से प्रभावित है. चीन में इस घातक वायरस से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. अब इससे लगभग 361 लोगों की मौत हो चुकी है. आधिकारिक पुष्टि के अनुसार इस वायरस से 17 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हैं. चीन की सरकार इसके उपाय के लिए कारगर कदम उठा रही है लेकिन वायरस अपने पैर पसारता जा रहा है.Also Read - Monkeypox Virus: यूरोप में तेजी से बढ़ रहे हैं मंकीपॉक्स के मामले, WHO ने बुलाई आपात बैठक, जानिए कितना है खतरनाक...

कई देशों ने अपने नागरिकों को चीन न जाने की सलाह दी है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की ओर से जारी बयान के अनुसार अब तक कोरोना वायरस संक्रमण से 20 देश प्रभावित हो चुके हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस वायरस को लेकर इंटरनेशनल हेल्थ इमरजेंसी की घोषणा कर दी है. Also Read - राहुल गांधी ने कहा- चीन भारतीय सीमा पर बना रहा पुल, अब डरपोक और विनम्र प्रतिक्रिया से काम नहीं चलेगा

आपको बता दें कि चीन में इस वायरस से मरने वालों की संख्या 2003-04 में फैले सार्स वायरस से अधिक हो चुकी है. WHO प्रमुख टेडरोस अधानोम घेब्रेसुस के कहा कि हमारे लिए इस वायरस के संक्रमण को रोकना प्रमुख लक्ष्य है. लेकिन साथ ही इसे गरीब तबके में फैलने से पहले खत्म करना मुख्य चुनौती है. Also Read - Monkeypox Disease: यौन संबंध बनाने से भी फैल सकता है 'मंकीपॉक्स' वायरस, विशेषज्ञों ने चेताया

बता दें कि भारत सरकार भी इस मामले में पूरी तरह से सचेत है. भारत ने चीन में फसे लगभग 647 भारतीयों को बुला लिया है. ये सभी नागरिक एयर इंडिया की दो फ्लाइट से भारत आए.कोरोना वायरस को लेकर दुनिया भर के देश ऐहतियात बरत रहे हैं. कई बड़े देशों ने चीन के लिए अपनी उड़ाने रद्द कर दी हैं.